पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेकाबू संक्रमण:संक्रमितों का 15 दिन का रिकार्ड, 794 पॉजिटिव के साथ आष्टा पहले नंबर पर

सीहोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आष्टा में बाजार बंद है लेकिन सड़कों पर बनी रहती है चहल-पहल। - Dainik Bhaskar
आष्टा में बाजार बंद है लेकिन सड़कों पर बनी रहती है चहल-पहल।
  • 27% कोरोना पॉजिटिव सीहोर शहरी क्षेत्र में मिले जबकि तहसील और ग्रामीण क्षेत्रों में 73%

पिछले एक पखवाड़े में कोरोना संक्रमण ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक फैला है। 15 दिनों में 27 फीसदी पॉजिटिव अकेले सीहोर शहर में मिले हैं जबकि 73 फीसदी जिले के अन्य नगरों और गांवों में मिले हैं। जिला मुख्यालय से बाहर की बात करें तो सबसे बड़ा हाट स्पाट आष्टा रहा है जहां 794 संक्रमित मिले हैं जबकि दूसरा नंबर बुदनी का आता है।

यहां पर 354 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। अप्रैल में कोरोना से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हुए हैं। 15 अप्रैल के बाद इनकी संख्या काफी अधिक रही है। हम यदि पिछले 15 दिनों की बात करें तो 22 अप्रैल से 6 मई तक के आंकड़ों के अनुसार 27 फीसदी संक्रमित सीहोर शहर में ही मिले हैं। इनकी संख्या 778 है। जबकि जिले के अन्य जगहों पर 2064 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इस तरह से इन 15 दिनों में कुल 2842 लोग कोरोना से संक्रमित हुए।

गांवों में संक्रमण बढ़ने का कारण शादी और नुक्ते
1. कोरोना संक्रमण तेजी से गांवों में फैला है। इसका प्रमुख कारण यह है कि गांवों में जागरुकता की कमी देखी गई है। पिछले दिनों गांवों में शादियां होती रहीं। इन विवाह आयोजनों में काफी लोगों को भोजन कराया गया। कई जगह तो गाइड लाइन का पालन तक नहीं हो सका।
2. गांवों में नुक्ता कार्यक्रम भी हुए। इन आयोजनों में बड़ी संख्या में लोगों ने भोजन किया। इसके बाद भी इस तरह के कार्यक्रमों पर पूरी तरह से रोक नहीं लग सकी।
3. सामाजिक कार्यक्रमों पर पूरी तरह से पाबंदी नहीं लग सकी जिसके कारण कोरोना फैला है। पिछले दिनों श्यामपुर में मुंडन कार्यक्रम में निर्धारित संख्या से काफी अधिक लोग भोजन करते हुए प्रशासन के अधिकारियों को मिले थे जिस पर कार्रवाई की गई थी।

24 अप्रैल को टूटा था रिकार्ड... एक दिन में सीहोर में 175 पॉजिटिव मिले थे सीहोर शहर में 24 अप्रैल को 175 संक्रमित मिले थे। उस दिन जिलेभर में इनकी संख्या 222 थी। इसी तरह 22 अप्रैल की बात करें तो उस दिन भी शहर में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा 104 था। इस पखवाड़े में इन्हीं दो दिनों में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा 100 से अधिक रहा है।

आष्टा: जिले में यहां पर सबसे अधिक संक्रमण
जिले की बात करें तो आष्टा में सबसे अधिक संक्रमित मिले हैं। यह आंकड़ा सीहोर शहर से भी अधिक रहा है। आष्टा में 22 अप्रैल से 6 मई के बीच 794 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं जबकि सीहोर में 778 कोरोना संक्रमित मिले हैं। आष्टा में एक पखवाड़े में सबसे अधिक मरीज एक मई को मिले थे जिनकी संख्या 94 थी। इसी तरह 25 अप्रैल को ये संख्या 91 थी।
इस पखवाड़े में दूसरा हॉट स्पाट बुदनीबुदनी में भी पिछले 15 दिनों में काफी संक्रमित मिले हैं। इनकी संख्या 354 है। यहां पर सबसे अधिक 30 अप्रैल को 57 संक्रमित मिले थे। 22 अप्रैल के पहले भी बुदनी में काफी कोरोना पॉजिटिव मिले थे। उस समय बुदनी में अधिक मरीज थे।

अभी भी जागरूकता की कमी
शहरी क्षेत्रों में अंकुश लगा है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी काफी लापरवाही हो रही है। यही कारण है कि अब गांवों में कोरोना तेजी से फैला है। कई गांवों में अभी भी लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं। अभी भी चौपालों पर लोग बैठे देखे जा सकते हैं। कोरोना को लेकर जागरुकता कम है। यही कारण है कि संक्रमण का खतरा बना हुआ है।

खबरें और भी हैं...