• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Sehore
  • 35 Jawans Of Dhamanda Village With A Population Of 6500 Are Posted In The Army, Whenever They Come On Leave, The Youth Of The Village Are Sent To The Army.

रिटायर्ड सैनिक कराते हैं तैयारी:6500 की आबादी वाले धामंदा गांव के 35 जवान सेना में पदस्थ, जब भी ये छुट्‌टी पर आते हैं तो गांव के युवाओं को आर्मी

सीहोरएक महीने पहलेलेखक: बलजीत सिंह ठाकुर
  • कॉपी लिंक
धामंदा गांव के युवा हर रोज दौड़ लगाते हैं फिजिकल फिट होने के  लिए ताकि सेना में भर्ती हो सके। - Dainik Bhaskar
धामंदा गांव के युवा हर रोज दौड़ लगाते हैं फिजिकल फिट होने के लिए ताकि सेना में भर्ती हो सके।

देश भक्ति का जज्बा सीहोर जिले के कई गांवों में देखने को मिलता है। इनमें धामंदा गांव भी एक है जहां के शहीद जितेंद्र कुमार वर्मा थे। यह वहीं गांव है जहां के करीब 35 सैनिक आर्मी, बीएसएफ या अन्य फोर्स में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। यही नहीं इनमें से जो भी गांव छुट्टी पर आता है या फिर जो रिटायर्ड हो चुका है वह भी गांव के युवाओं को सेना में जाने के लिए मोटीवेट करता है। यही कारण है कि गांव के सरकारी स्कूल में रनिंग ट्रैक भी इन्होंने बनवा रखा है। यहां गांव के युवा सेना में जाने के लिए तैयारी करते हैं।

जज्बा... गांव के 1 हजार से ज्यादा युवा सेना में जाने की तैयारी में

भोपाल-इंदौर फोरलेन स्थित सीहोर से करीब 29 किमी दूर स्थित अमलाहा से दो किमी दूर धामंदा गांव है। जिला सैनिक कल्याण संयोजक हवलदार अनिल कुमार वर्मा 2017 में रिटायर्ड हुए। श्री वर्मा दो साल तक जिला सैनिक कल्याण बोर्ड में रहे। श्री वर्मा भी धामंदा गांव के ही रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि 6500 की आबादी वाले धामंदा गांव के करीब 35 सैनिक इस समय सेना, बीएसएफ और अन्य फोर्स में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। धामंदा गांव के युवाओं में भी गजब का जज्बा है। ये युवा भी अपने गांव के उन लोगों को प्रेरित हैं जो सेना में भर्ती होकर देश की सेवा में जुटे हैं। श्री वर्मा ने बताया कि गांव में युवाओं की एक फौज तैयार है जो सेना में जाने की इच्छुक है। उन्होंने बताया कि इस गांव में करीब एक हजार से अधिक युवा हैं। इनमें से कई युवा सेना में जाने के लिए तैयारी करने में जुटे हैं। श्री वर्मा के मुताबिक जो भी जवान घर छुट्टी पर आता है तो वह गांव के इन युवाओं को सेना में जाने के लिए प्रेरित करता है। इसके अलावा उन्हें रोज रनिंग ट्रैक पर भी देखने जाता है।

जज्बा... गांव के 1 हजार से ज्यादा युवा सेना में जाने की तैयारी में

रिटायर्ड सैनिक कराते हैं तैयारी
जो सेना का जवान छुट्टी आता है तो वह इन युवाओं को सेना में जाने के लिए ट्रेंड करता है। इन सभी को बताया जाता है कि सेना में जाने के लिए उनकी क्या योग्यता होना चाहिए। शैक्षणिक स्तर के अलावा फिजीकल टेस्ट क्लीयर करने के लिए क्या-क्या होना चाहिए, इसे भी देखा जाता है। इसके लिए यहां के रिटायर्ड सैनिक तैयारी कराते हैं।

खबरें और भी हैं...