पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीन 16 से लगेगी...:5 दिन में 6 हजार स्वास्थ्य कर्मचारियों को लगेगा टीका

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • माइक्रो प्लानिंग पर काम शुरू : वैक्सीनेशन के लिए कितने सेंटर बनेंगे और कितने की ड्यूटी लगेगी, इसकी तैयारी में जुटा स्वास्थ्य विभाग

कोरोना संक्रमण के बीच अच्छी खबर है कि टीकाकरण को लेकर चल रही अटकलें अब खत्म हो गई हैं। प्रधानमंत्री द्वारा टीकाकरण की शुरुआत की तारीख घोषित करते ही स्वास्थ्य विभाग ने अब तेजी से माइक्रो प्लानिंग पर काम शुरू कर दिया। ड्राय रन के बाद अब स्थानीय अमला यह तय करने में जुट गया कि जिले में कितने सेंटर बनाए जाना हैं और उन पर कितने कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसके साथ ही करीब 6 हजार स्वास्थ्य कर्मचारियों को शुरू के पांच दिनों में ही वैक्सीन लगाने की प्लानिंग की जाएगी।

जिले को वैक्सीन के कितने डोज मिलेंगे, तय नहीं
सरकारी अस्पतालों के अलावा जिन निजी संस्थाओं व स्थानों पर भी वैक्सीनेशन के सेंटर बनाए जाएंगे, वहां पर्याप्त जगह है या नहीं इसका ध्यान दिया जा रहा है। ये भी देखा जा रहा है कि संबंधित स्थान तक पहुंचने का आवागमन का रास्ता सुगम है या नहीं। ताकि वाहन आसानी से आ-जा सकें और वैक्सीन लगने के बाद आब्जर्वेशन में लोगों को रखा जा सके। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हुई है कि पहले चरण में सीहोर जिले को वैक्सीन के कितने डोज मिलेंगे।

250 कर्मचारियों को वैक्सीनेशन की दी जा चुकी है ट्रेनिंग
कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए जिले में करीब 250 से अधिक स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। अलग-अलग जगह वैक्सीन लगाने के लिए इन्हें ही तैनात किया जाएगा।

53 आईएलआर और 23 कोल्ड चेन में रहेगी कोरोना की वैक्सीन
वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए जिले में 53 आईएलआर (डी-फ्रीजर) रहेंगे। जिनमें कोरोना वैक्सीन को रखा जाएगा। ये पूरी वैक्सीन कोल्ड चेन में रखी जाएगी। जिले में कोल्ड चेन की संख्या 23 है। सीएमएचओ कार्यालय के पास बने भवन में वैक्सीन को रखा जाएगा।

तय कर रहे कि जिले में कितने सेंटर बनाए जाएं
जिला अस्पताल सहित आष्टा व नसरुल्लागंज में वैक्सीनेशन के ड्राय रन के बाद अब असल टीकाकरण के लिए माइक्रो प्लानिंग पर काम शुरू हो गया है। तय किया जा रहा है कि जिले में कितने सेंटर बनाए जाएंगे और इनमें कितने अमले की ड्यूटी लगेगी आदि। स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार इस बात पर भी जोर दे रहे हैं कि वैक्सीनेशन के ड्राय रन ट्रायल में जो थोड़ी-बहुत खामियां सामने आई हैं, अब टीकाकरण में नहीं होना चाहिए। माइक्रो प्लानिंग बनाते वक्त इन कमियों को दूर करते हुए एक-एक बिंदु का चरण व समय-सीमा तय की जा रही है। वैक्सीनेशन के लिए जहां प्रशिक्षित अमले को जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। वहीं दस्तावेजों के परीक्षण व कम्प्यूटर से जुड़े कामों के लिए भी ऐसे अनुभवी लोगों को काम पर लगाया जाना तय हुआ है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें