पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राहत:7 करोड़ 14 लाख की नलजल योजना से 9 गांवों के 4 हजार ग्रामीणों के घर पर ही पहुंचेगा पानी

सीहोर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीने के पानी के लिए ग्रामीणों को गर्मी के दिनों होती थी ज्यादा समस्या, अब मिलेगी राहत

सीहोर विधानसभा क्षेत्र के 9 गांवों के लिए नलजल योजना स्वीकृत की गई है। जिसका क्रियान्वयन करीब 7 करोड़ 14 लाख 53 हजार रुपए से किया जाएगा। इससे 9 गांवों के करीब 4 हजार परिवारों के घर शुद्ध पानी पहुंचेगा। इससे ग्रामीणों को सबसे अधिक गर्मी के दिनों में राहत मिलेगी। नलजल योजना का क्रियान्वयन अहमदपुर, रायपुरा, बराड़ीकला, बमुलिया, बिजोरी, राजूखेड़ी, सेमरादांगी, बाजार गांव, खंडवा के करीब 4 हजार परिवारों को शीघ्र ही फिल्टर पानी पीने के लिए मिलेगा। इसकी स्वीकृति शासन से हो चुकी है। यह स्वीकृति विधायक सुदेश राय के प्रयासों से मिली है।

पानी की टंकी का किया जाएगा निर्माण
ग्राम बमुलिया में 143 लाख की लागत से नलकूप स्रोत आधारित नवीन नलजल योजना के लिए नलकूपों पर पॉवर पंप लगाएंगे। नवीन विद्युत संयोजन, 175 लीटर जल संग्रहण क्षमता 12 मीटर स्टेजिंग की आरसीसी टंकी का निर्माण होगा। जल वितरण नल के माध्यम से किया जाएगा।इसी तरह ग्राम बिजोरी के लिए 34 लाख 10 हजार रुपए की लागत से योजना का क्रियान्वयन होगा। राजूखेड़ी में भी 175 परिवार लाभांवित होंगे।इसी तरह अन्य गांवों में भी निर्माण कार्य किए जाएंगे।

अलग-अलग गांवों में होगा योजना का क्रियान्वयन
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग कार्यपालन यंत्री एमसी अहिरवार ने बताया कि ग्राम पंचायत अहमदुपर में 127.02 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं।योजना क्रियान्वयन के बाद यहां के करीब 700 से अधिक परिवारों को फिल्टर पीने का पानी मिलेगा। रायपुरा में 71 लाख 3 हजार रुपए से योजना पूरी होगी। यहां के करीब 375 परिवारों को घर पर पीने का पानी मिलेगा। बराड़ीकला में 53 लाख 23 हजार रुपए का बजट निर्धारित है। यहां 150 घरों में पानी भेजने का लक्ष्य है। इसी तरह खंडवा में 1 करोड़ 81 लाख 73 हजार रुपए से नलकूप स्रोत आधारित नवीन नलजल प्रदाय योजना का क्रियान्वयन होगा। साथ ही पानी की टंकी का निर्माण किया जाएगा।

गर्मी के दिनों में ज्यादा होती थी परेशानी
विधायक सुदेश राय ने बताया कि गर्मी के दिनों में विधानसभा क्षेत्र के इन 9 गांवों में सबसे ज्यादा पीने के पानी की परेशानी होती थी। ग्रामीण एक से दो किमी तक खेतों से पीने का पानी लेकर जाते थे। नलजल योजना के पूर्ण होने के बाद ग्रामीणों को घर पर ही पीने का शुद्ध पानी मिलेगा।

सूख जाते हैं जलस्रोत
गर्मी आते ही मार्च-अप्रैल के महीने में ग्रामीण क्षेत्रों के जलस्रोत दम तोड़ देते हैं। इससे ग्रामीणों को पीने तक के पानी के लिए भटकना पड़ता है। इस तरह के हालात सीहोर विधानसभा क्षेत्र में और भी बने हुए हैं। पीने के पानी के लिए पूर्व में कई बार ग्रामीण हंगामा भी कर चुके हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें