पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हड़ताल:दस दिनों के बाद बंद मंडी को पुरानी व्यवस्था पर ही चालू किया, पर नहीं निकला कोई हल

सीहोर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर की कृषि उपज मंडी पिछले दस दिनों से बंद पड़ी हुई थी। इसके बावजूद भी कोई हल नहीं निकल सका। आखिरकार व्यापारी व हम्मालों ने आपसी सहमति बनाकर मंगलवार से मंडी को चालू किया गया। हालांकि इससे किसानों को जरूर परेशानी का सामना करना पड़ा। इस कारण उन्हें अपनी उपज बेचने के लिए आष्टा या फिर सोनकच्छ की तरफ जाना पड़ा था। कृषि उपज मंडी मंगलवार से वापस पुरानी व्यवस्था के साथ चालू हुई है। हालांकि पहले दिन आवक काफी कम ही रही। सूचना मिलने के बाद किसान अपनी उपज लेकर मंडी पहुंचेगें। ज्ञात रहे कि शासन की नई व्यवस्था के खिलाफ हम्माल व व्यापारी एसोसिएशन द्वारा चार जुलाई से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए थे। इस कारण दस दिनों से कृषि उपज मंडी बंद थी। इसके चलते मंडी परिसर में सन्नाटा पसरा हुआ था। मंडी सचिव सतीश मोहन पारासर ने बताया कि व्यापारियों व हम्मालों के साथ चर्चा कर अभी पुरानी व्यवस्था पर मंडी चालू की है। नई व्यवस्था वरिष्ठ अधिकारियों से विचार विमर्श कर बाद में लागू करेंगे।  चर्चा के दौरान व्यापारियों ने मांग रखी है कि मंडी में दस टन का नया कांटा लगवाया जाए। इस वजह से व्यापारियों को तोल करने में परेशानी आती है। वहीं किसानों को भी फसल गिरने की समस्या का सामना करना पड़ता है। पिछले माह शासन ने प्रदेश की सभी मंडियों मे बडे़ इलेक्ट्रानिक कांटे लगाकर किसानों की उपज उसी पर तोलने के आदेश किए थे लेकिन उक्त आदेश का पालन मंडी में नही हो रहा है। हम्माल और व्यापारी एसोसिएशन का अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से दस दिनों कृषि उपज मंडी के परिसर में सन्नाटा पसरा हुआ था। जिसके चलते मंडी सचिव ने दोनों पक्षों से बात करके अभी पुरानी व्यवस्था से मंडी चालू की है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें