पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गंज की समस्या अनसुलझी:2 फीट की नाली बनने से मेन रोड पर नहीं भरेगा पानी पर आष्टा रोड,

सीहोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बद्रीमहल पर 17 लाख से बनेगी नाली, विधायक ने काम का शुभारंभ किया

थोड़ी सी बारिश में ही मेन रोड पर पानी भरने लगता है। अभी तक यह समस्या बद्री महल चौराहा से कोतवाली चौराहा तक थी। पुलिया और गहरी नाली बना देने के बाद अब कोतवाली चौराहा पर पानी नहीं भर रहा है लेकिन बद्री महल की समस्या अभी भी बनी हुई थी।

इसी का समाधान करते हुए नगर पालिका ने शुक्रवार को यहां से नाली निर्माण का काम शुरू कराया। 17 लाख रुपए की लागत से इस नाली का निर्माण किया जाना है जो 400 मीटर लंबी होगी और इसे नाले में मिलाया जाएगा। यहां की समस्या का समाधान तो हो गया लेकिन अभी भी आष्टा रोड की नाली और गंज के माता मंदिर के पास भर रहे पानी की समस्या का समाधान बाकी है।

पिछले कई दिनों से हल्की बारिश हो रही थी लेकिन 8 जून को जब प्री.मानसून की तेज बारिश हुई थी तो इस दौरान कई जगहों पर पानी भरने की समस्या होने लगी थी। उस दिन बद्री महल चौराहा पर भी पानी भरने लगा था। दैनिक भास्कर ने इस समस्या को प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद शुक्रवार को विधायक सुदेश राय ने इस काम का शुभारंभ किया।

ब्रदी महल पर छोटी नाली थी परेशानी की वजह
ब्रदी महल पर पानी भरने की समस्या इसलिए होती है क्योंकि यहां पर निकासी के लिए जो नाली है, वह बहुत ही छोटी है। साथ ही कई जगह से कच्ची भी है। यही कारण है कि पानी की निकासी के लिए कोई जगह ही नहीं है। इसलिए जब भी भारी बारिश होती है तो यहां पर पानी भर जाता है और फिर सड़क से बहने लगता है।

इस समस्या को दैनिक भास्कर ने अपने 9 जून के अंक में प्रमुख रुप से अभी से पिछले साल जैसा हाल शीर्षक से प्रकाशित किया था। इसके बाद से नपा और प्रशासन अलर्ट हुआ और फिर इस का काम को पूरा कराने की कवायत शुरू हो गई।

जब भी भारी बारिश होती है तो नाली की पूरी गंदगी सड़क पर आ जाती है। यह समस्या काफी पुरानी है। पानी भर जाने के बाद दुकानों में रखा सामान भीग जाता है। पिछले कुछ सालों से दुकानदारों को करोड़ों का नुकसान हो चुका है।

17 लाख से होगा नाली का निर्माण
इस संबंध में नगर पालिका सीएमओ संदीप श्रीवास्तव ने बताया कि बद्री महल चौराहा से नाली का निर्माण कराया जा रहा है। इस पर 17 लाख रुपए खर्च होंगे। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को काम का शुभारंभ कर दिया गया। यह 400 मीटर लंबी नाली बनाई जाना है।

नाली 2 फीट चौड़ी और 2 फीट ही गहरी होगी। अभी यहां पर 6 इंच की नाली थी। अब नई नाली बन जाने से बारिश का पूरा पानी नाले में जाकर मिलेगा। शुक्रवार सुबह इस काम का शुभारंभ विधायक सुदेश राय ने किया। इस मौके पर राजकुमार गुप्ता, सीएमओ संदीप श्रीवास्तव आदि थे।

इन जगहों पर भी समस्याएं... क्योंकि बारिश में यहां भरता है घुटनों-घुटनों तक पानी

  • आष्टा रोड की नाली: अक्सर बारिश के समय आष्टा रोड की नाली ओवर फ्लो हो जाती है। इसका कारण यह है कि शर्मा मावा भंडार के पास जो पुलिया है वह काफी नीचे है। जब आष्टा रोड का पानी आता है तो फिर यहां पर नालियों का पानी ओवर फ्लो होने लगता है।
  • तीन काॅलोनियां की परेशानी: दांगी कालोनी सहित गुलाब विहार और पारस गुलाब वाटिका में भी पानी भराव की स्थिति बनती है। इसका प्रमुख कारण नाले की सफाई ना होना है। साथ ही कुछ रूकावट होने से पानी निकासी नही हो पाती है।
  • गंज माता मंदिर चौराहा: गंज का माता मंदिर चौराहा है। यहां पर भी चौराहे पर पानी भर जाता है। यहां पानी भराव की समस्या इसलिए है कि जो नाली है वह खुली नहीं है। इसलिए पानी भरने लगता है।
  • फोरलेन पर समस्या: तेज बारिश के समय फोरलेन पर भी पानी भर जाता है। खासकर बस स्टैंड, गंगा आश्रम में अधिक समस्या है। यहां पर पानी निकासी की व्यवस्था नहीं है। इसे भी सही करना होगा।
खबरें और भी हैं...