पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमावस्या:पंचायत के प्रस्ताव पर आंवलीघाट सहित जिले के अन्य घाटों पर भूतड़ी अमावस्या पर स्नान करने पर रोक

सीहोर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आंवलीघाट पर पिछले 15 दिनों में तीन हादसे, तीन लोग डूब चुके हैं

ग्राम पंचायत के प्रस्ताव पर एसडीएम बुदनी ने नर्मदातटीय घाटों पर भूतड़ी अमावस्या पर स्नान करने पर रोक लगा दी है। यह कोरोना संक्रमण के तेजी से फैलने को लेकर निर्णय लिया गया है। भूतड़ी अमावस्या पर आंवलीघाट पर जिले के अलावा प्रदेशभर से करीब एक लाख लोग यहां आते हैं। रातभर कार्यक्रम के बाद फिर सुबह स्नान किया जाता है। इसे देखते हुए यह रोक लगाई गई है। एसडीएम द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड 19 संक्रमण को देखते हुए ग्राम पंचायत आंवलीघाट ने प्रस्ताव पारित कर आंवलीघाट स्थित मां नर्मदा के तट पर आश्विन कृष्ण अमावस्या (भूतड़ी अमावास्या) पर होने वाले स्नान पर प्रतिबंध लगाया जाए। प्रस्ताव में कहा गया है कि यहां पर हजारों लोग जमा होते हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण के फैलने की आशंका बनी रहेगी। इन हजारों लोगों में प्रदेश और देश के अन्य प्रांतों से भी कुछ लोग यहां पर आते हैं। इसलिए रोक लगाना जरूरी है। इस पर बुदनी एसडीएम शैलेंद्र हिनोतिया ने बुदनी विकासखंड में आने वाले नर्मदा नदी के सभी घाटों पर पर भूतड़ी अमावस्या पर किसी भी प्रकार के स्नान और अन्य गतिविधियों पर रोक लगा दी है।

पहले भी लगा था प्रतिबंध
कोरोना जब से आया है तब से नर्मदा के स्नान और सलकनपुर देवी धाम में दर्शनों को लेकर कई बार प्रतिबंध लगाए गए। कई बार इन प्रतिबंधों को हटाया भी गया। हालांकि इस दौरान यह देखा गया है कि जहां पर भी लापरवाही हई तो वहीं पर कोरोना फैला है। इसलिए पहले भी प्रशासन इस तरह के प्रतिबंध लगा चुका है।

खबरें और भी हैं...