पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पढ़ाई:108 दिनों बाद होंगे बोर्ड एग्जाम, अब रिवीजन पर जोर

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अप्रैल में परीक्षा की घोषणा से विद्यार्थी खुश, 10वीं-12वीं की परीक्षा में 32 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं होंगे शामिल

पिछले दिनों एमपी बोर्ड द्वारा 10वीं 12वीं की परीक्षा की अप्रैल के अंतिम सप्ताह में घोषणा करने के बाद जिले के शासकीय और अशासकीय हाई व हायर सेकंडरी स्कूलों के करीब 32 हजार से अधिक विद्यार्थियों की परीक्षा की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। शुक्रवार से उनके पास अब 108 दिन का समय बचा है। हालांकि स्कूल प्राचार्यों का कहना है कि अभी परीक्षा की तिथि आगे बढ़ने के संबंध में उन्हें कोई आदेश नहीं मिला है। वे तो मार्च मे परीक्षा के हिसाब से ही तैयारी करवा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के चलते लंबे समय बाद आखिरकार नवंबर महीने में खुले स्कूलों में पढ़ने वाले इन विद्यार्थियों के परीक्षा की तैयारी की जिम्मेदारी प्राचार्य और शिक्षकों पर है। वे कैसे कोर्स पूरा करवाकर रिवीजन लेंगे। बहरहाल अभी तो इन स्कूलों में 100 फीसदी उपस्थिति पूरी करवाने के लिए प्राचार्य को पसीना आ रहा है, क्योंकि अभी भी 50 से 70 प्रतिशत उपस्थिति है। वर्तमान में भी पालक अभी भी बच्चों को भेजने को तैयार नहीं है। जो विद्यार्थी स्कूलों में आ रहे हैं उनके कोर्स के विषयों की 1 से 2 यूनिट पूरी हुई है। हालांकि प्राचार्य द्वारा पूरी कोशिश की जा रही है कि समय पर कोर्स पूरा हो जाए। कोर्स खत्म होने के बाद रिवीजन लिया जाए। इनके साथ ही अनुपस्थित विद्यार्थियों को भी ऑनलाइन पढ़ाकर परीक्षा के लिए तैयार किया जाए। कक्षाओं के साथ-साथ ऑनलाइन क्लास से भी हो रही पढ़ाई : आवासीय खेलकूद संस्थान के प्राचार्य आलोक शर्मा ने बताया कि वर्तमान में होस्टल बंद हैं, इसलिए स्थानीय स्तर पर करीब 30 प्रतिशत बच्चे ही स्कूल आ पा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र के कुछ बच्चे ऐसे भी हैं जो सामूहिक रूप से यहां किराए से मकान लेकर रह रहे हैं और कक्षाओं में शामिल हो रहे हैं। बाकी विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं। हालांकि जो घर बैठे पढ़ाई कर रहे हैं उनको भी स्कूल आकर तैयारी करना चाहिए। ताकि वे परीक्षा में सफल हो सके। पिछले दिनों स्कूल खुलने के बाद शिक्षक पूरा फोकस कोर्स पूरा करने और रिवीजन पर दे रहे हैं। समय कम है और काम ज्यादा, यह शिक्षकों और विद्यार्थियों दोनों को समझना होगा।

परीक्षा से पहले रिवीजन पर खास फोकस होगा
एक्सीलेंस स्कूल क्रमांक 1 के प्राचार्य रविंद्र कुमार बांगरे का कहना है कि अधिकांश विद्यार्थी पालकों की सहमति से विद्यालय आकर कक्षाओं में शामिल हो रहे हैं। अधिकांश बच्चे ग्रामीण क्षेत्र के होने के बाद भी बच्चों में पढ़ाई को लेकर उत्साह है। स्कूल के शिक्षक भी इस तरह से सिलेबस को पूरा करवा रहे हैं कि परीक्षा से पहले पूरे सिलेबस का रिवीजन भी हो जाए। कोर्स के रिवीजन से ही विद्यार्थियों का रिजल्ट सुधारेगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें