पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुविधा:चोक नालियों की हो रही सफाई, ताकि बारिश में सड़कों पर नहीं भरे गंदा पानी

सीहोर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लंबे समय से नहीं हो सकी थी नालियों की सफाई, अमला कम होने से भी होती है परेशानी

लंबे समय से शहर की कई नालियों की सफाई नहीं हो पाई थी। बारिश के समय चोक पड़ी इन नालियों के कारण गंदा पानी सड़कों पर बहता है। इस समस्या के निदान के लिए नगर पालिका ने शहर की प्रमुख नालियों की सफाई कराने का अभियान शुरू कर दिया है। अभी तक दो नालियों की सफाई हो चुकी है और अन्य का काम चल रहा है।
शहर की नालियों की साफ-सफाई नहीं होने से हरसाल समस्या होती है। जब भी भारी बरसात होती है तो नालियों की गंदगी सड़कों पर आ जाती है। इसी समस्या को देखते हुए नगर पालिका ने शहर की प्रमुख नालियों की सफाई का अभियान शुरू कर दिया है। अभी तक अमला दो जगहों पर नालियों की सफाई कर चुका है।
लाला मस्जिद से कोतवाली तक हो चुकी है सफाई
लाल मस्जिद से कोतवाली चौराहा वाली नाली की सफाई का काम पूरा कर दिया गया है। इस नाली में भी अस्पताल के गेट के यहां से पानी आता है और ये नाली कोतवाली चौराहे पर जाकर मिलती है। इसमें काफी कचरा भरा हुआ था जिसे साफ किया गया। इसके अलावा बस स्टैंड से आनंद डेयरी तक की पानी निकासी की नाली को भी साफ कियागया। यहां पर भी काफी गंदगी निकाली गई जिसे साफ किया गया।
अधिकांश नालियों के खुले होने से भरा है कचरा
अधिकांश जगह पर नालियां कवर्ड नहीं हैं। यही कारण है कि इनमें बाहर का कचरा भी आ जाता है और फिर इस कचरे के कारण यह नालियां चोक हो जाती हैं। हालत यह हो जाती है कि कचरा भरा होने से पानी रुकने लगता है और फिर इन नालियों से पानी की निकासी नहीं होने से कचरा सड़ने लगता है। इससे दुर्गंध होने लगती है। इसी के साथ बीमारियों के फैलने का खतरा भी बढ़ जाता है।
अमले की भी है परेशानी
नगर पालिका के सामने यह भी परेशानी है कि उसके पास सफाई अमले की कमी है। अभी भी करीब 200 सफाई कर्मचारी ही हैं जबकि शहर की आबादी 1 लाख 25 हजार के करीब है। ऐसे में और सफाई कर्मचारियों की जरूरत है जिसे पूरा करना होगा।

जब तक सफाई कर्मचारियों की संख्या में इजाफा नहीं किया जाता तब तक नियमित सफाई होना कठिन है। यदि सभी वार्डों की नालियों की सफाई हर रोज हो तो इसके लिए अमले की जरूरत होगी जो अभी नहीं है। यही कारण है कि महीनों तक भी नालियों की सफाई नहीं हो पाती है।
संसाधनों की भी है कमी
नगर पालिका के पास संसाधनों की भी कमी है। देखा जाए तो आज कई आधुनिक उपकरण ऐसे आ चुके हैं जिनसे नालियों की सफाई कराई जाती है। इन मशीनों का उपयोग कई शहरों में किया जाता है लेकिन नपा के पास ऐसे संसाधनों का भी अभाव है।

खबरें और भी हैं...