पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Sehore
  • Crop Is Getting Bad, Farmers Are Upset, The Crop Was Done By Taking Loan From Kisan Credit Card, Cooperative Banks And Moneylenders

बाजार में बिक रहे नकली कीटनाशक:फसल हो रही खराब, किसान परेशान बोले-किसान क्रेडिट कार्ड, सहकारी बैंक और साहूकारों से कर्ज लेकर की थी फसल

सीहोर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कीटनाशक दवा की बोतल दिखाता किसान। - Dainik Bhaskar
कीटनाशक दवा की बोतल दिखाता किसान।

बाजीरों में बिक रहे कीटनाशक फसलों को कीटों से बचा नहीं पा रहे हैं। कहीं खरपतवार नष्ट नहीं हो रहे तो कहीं फसल मुरझा रही है। किसान ऐसी दवाइयों पर हजारों खर्च कर चुके हैं। दवाइयों के असर न करने से किसान बहुत हैं और छला महसूस कर रहे हैं। कई किसानों ने अफसरों से बाजार में नकली दवाओं की बिक्री होने की शिकायत की है।

कीटनाशक और खरपतवार नाशक से बर्बाद हो रही फसल

जिले में पिछले साल के मुकाबले इस साल ज्यादा रकबा में मक्का की फसल बोई गई है। जिस पर किसानों ने लाखों रुपए खर्च किए हैं। अभी फसलों के बीच घास उग आई है और कीट भी देखे जा रहे हैं। किसानों ने फसल बचाने के लिए कीटनाशक दवाओं का इंतजाम करना शुरू कर दिया है। किसी ने किसान क्रेडिट कार्ड, सहकारी बैंक और कई लोगों ने साहूकारों से कर्ज लेकर उड़द, सोयाबीन, मूंग, मूंगफली, मक्का, तिल आदि फसल कर उन पर कीटनाशक और खरपतवार नाशक दवाओं का छिड़काव किया है, लेकिन बहुत कम फसलों पर कीटनाशक का असर दिखाई दे रहा है, जिससे किसानों में गुस्सा नजर आ रहा है। उनका आरोप है कि बाजार में दुकानदारों ने कारगर दवा बताकर महंगे दाम वसूल कर लिए हैं। इसके बाद भी दवा का असर नहीं दिख रहा है।

एक लाख रुपए का कर्ज लिया है

सीहोर जिले के इछावर तहसील के किसान दिनेश कामदार आत्मज जयकिशन ने बताया कि उसने एक लाख रुपए का कर्ज लेकर दस एकड़ जमीन में मक्के की फसल बोई है। उसे उम्मीद थी कि अच्छी फसल होगी, जिससे पहले से चला रहा कर्ज चुकता हो जाएगा। लेकिन मेंमर्स पटेल कृषि सेवा केंद्र से खरीदे बाराजाइड (barazide) दवा का फसल पर दुष्प्रभाव पड़ गया। खरपतवार की जगह पौधे ही मुरझाए गए। पूरी मक्के की फसल जल गई। सरकार और जिला प्रशासन को दवा मेंमर्स पटेल कृषि सेवा केंद्र पर कार्रवाई करना चाहिए।

किसान दिनेश कामदार ने कहा है कि मैंने कृषि विभाग एसडीएम को आवेदन देकर कंपनी विक्रेता और दुकानदार पर कार्रवाई की मांग की है।

खबरें और भी हैं...