पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेकाबू संक्रमण:भोपाल के करीब होने से ज्यादातर संक्रमित वहीं पर हो रहे भर्ती, 5 वेंटीलेटर पर एक भी मरीज नहीं

सीहोर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलेभर के चार अस्पतालों में कोरोना वार्ड के 95 में से 33 बेड फुल, ऑक्सीजन की जितनी खपत, उतनी सप्लाई रोज

जिलेभर के 4 अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए वार्ड तैयार किए गए हैं। इनमें 95 बेड की सुविधा उपलब्ध है जिनमें से अभी 33 बेड फुल हो चुके हैं। हालांकि जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड के पूरे 11 पलंग खाली हैं जिनमें से 5 पर वेंटीलेटर की सुविधा उपलब्ध है। खास बात यह है कि संक्रमण फैलने के बाद से अब तेजी से पलंग फुल होने लगे हैं। यही हाल रहा तो कुछ ही दिनों में सभी बेड भर जाएंगे। गुरुवार को भी 47 पॉजिटिव मिले जिसमें से सीहोर शहरी क्षेत्र के 29 पॉजिटिव हैं । जिले में ज्यादातर मरीज होम आइसोलेट है तो कुछ भोपाल जाकर अपना इलाज करा रहे हैं। लेकिन अब वहां पर भी पलंग खाली नहीं मिल पा रहे हैं इसलिए अब सीहोर जिला मुख्यालय पर मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। हालांकि जिले में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। अभी मरीजों के हिसाब से पर्याप्त ऑक्सीजन है और रोजाना सिलेंडर मिल भी रहे हैं।

11 बेड का आईसीयू वार्ड पूरा खाली, यहां 5 वेंटीलेटर भी हैं
ट्रामा सेंटर में जो आईसीयू वार्ड बनाया गया है वह पूरा खाली पड़ा है। यहां पर 11 बेड हैं जिनमें से 5 पर वेंटीलेटर की सुविधा उपलब्ध है। अभी यहां पर एक भी मरीज को भर्ती नहीं किया गया है। सभी पलंग खाली हैं।
ऑक्सीजन के 379 सिलेंडर रिजर्व में, रोज 30 सिलेंडर की खपत : एक तरफ जहां ऑक्सीजन के लिए मारामारी चल रही है तो जिला अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध है। जानकारी देते हुए प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. आरके वर्मा ने बताया कि बड़े जंबो सिलेंडर 222 उपलब्ध हैं जबकि बी टाइप के छोटे सिलेंडर 157 हैं। प्रतिदिन जिला अस्पताल में 30 सिलेंडर की खपत है जो हर रोज मिल जाते हैं।
36 मरीज ठीक होकर घर गए : कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। यही कारण है कि बुधवार को भी 47 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। हालांकि ठीक होने वाले लोगों की संख्या भी 36 रही है। अब एक्टिव मरीजों की संख्या 333 हो गई है।

कोरोना मरीजों के लिए संसाधनों का स्कैन

1. जिला अस्पताल ट्रामा सेंटर : यहां पर कोरोना के लिए 50 पलंग तैयार किए गए हैं। इन सभी पलंग पर ऑक्सीजन की सुविधा है।
स्थिति: इनमें से अभी 30 पलंग पर मरीज भर्ती हैं और 20 बेड ही अभी खाली बचे हैं।
2. सिविल अस्पताल आष्टा : यहां पर कोरोना के मरीजों के लिए 20 पलंग तैयार किए गए हैं। इनमें से 10 पलंग पर ऑक्सीजन की सुविधा है जबकि अन्य 10 बेड बिना ऑक्सीजन की सुविधा के हैं।
स्थिति: यहां पर अभी एक भी कोरोना मरीज भर्ती नहीं है। तहसील क्षेत्र में जो भी मरीज मिले हैं या तो वे घर पर ही इलाज करा रहे हैं या फिर भोपाल या सीहोर में भर्ती हैं।

3. नसरुल्लागंज अस्पताल: यहां के अस्पताल में भी कोरोना मरीजों के लिए 20 पलंग की व्यवस्था की गई है। यहां पर भी 10 पलंग पर ऑक्सीजन की व्यवस्था है और 10 बिना ऑक्सीजन के हैं।
स्थिति: अस्पताल में अभी 3 मरीज भर्ती हैं जिनका इलाज किया जा रहा है। बाकी बेड अभी खाली पड़े हैं।
4. बिलकीसगंज अस्पताल: इस अस्पताल में भी कोरोना मरीजों के लिए 5 पलंग की व्यवस्था की गई है। इनमें से एक पलंग पर भी ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं है।
स्थिति: अभी यहां पर कोई भी मरीज भर्ती नहीं है।

47 पॉजिटिव मिले: शहरी क्षेत्र में नहीं कम हो रही काेरोना की रफ्तार
सबसे ज्यादा कोरोना का असर सीहोर शहर में देखा जा रहा है। हर रोज यहां पर बड़ी संख्या में मरीज मिल रहे हैं। गुरुवार को भी 47 में से सीहोर शहरी क्षेत्र के 29 पॉजिटिव हैं जो फरेरा कालोनी, एसपी कार्यालय चौक, गंज, केंद्रीय विद्यालय, भोपाल नाका, गल्ला मंडी, राठौर मोहल्ला, नेहरू कालोनी, चाणक्यपुरी, इंदौर नाका, गंगा आश्रम, पुलिस लाइन, बड़ी ग्वालटोली, वैशाली नगर, सिंधी कालोनी, मछली मार्केट, जयंती कालोनी, भोपाल नाका के हैं। इसके अलावा नसरुल्लागंज के पुलिस थाना क्षेत्र, वार्ड नंबर 2 से कुल 3 लोग पॉजिटिव मिले हैं। आष्टा के खजूरिया, खामलिया, बुधवारा, टीटोरिया, बेदाखेड़ी से 6, श्यामपुर के बिजोरी, मुल्लानी, शेरपुर, सागोनी, समेली से 6, बुदनी के वार्ड नंबर 1 और 7 में 3 पॉजिटिव मिले हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें