पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राहत:रबी फसल की तैयारी में जुटे किसानों को इस बार भी मिलेगा सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी

सीहोर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रबी सीजन की 80 फीसदी फसलों की सिंचाई वाले घोघरा और कोलार डैम में आया पर्याप्त पानी

अगस्त के अंत और सितंबर के प्रथम सप्ताह में हुई भारी बारिश से क्षेत्र के सभी तालाब लबालब हो गए हैं। इससे क्षेत्र वासियों व किसानों ने राहत मिली है। अन्नदाता को इस बार घोघरा और कोलार डेम में पर्याप्त पानी होने से सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिलेगा। इन तालाबों से क्षेत्र में करीब 80 फीसदी सिंचाई की जाती है। बीते दिनों हुई जोरदार बारिश के कारण क्षेत्र में बाढ़ भी आ गई थी। इसके अलावा कोलार डैम के गेट भी खोलना पड़े थे। भारी बारिश ने दो दिनों में ही तालाबों व अन्य जल स्रोतों को लबालब कर दिया था। इसका फायदा अब किसानों को रबी सीजन की फसल में होगा। किसानों को हर साल बारिश के अभाव में सिंचाई विभाग द्वारा दो पानी तक ही दिया जाता था। लेकिन इस बार किसान गेहूं की फसल की सिंचाई के लिए तीन पानी के अलावा अतिरिक्त नेहर से पानी छोड़े जाने की उम्मीद जता रहे हैं। खेतों को साफ करने में जुटे किसान: इस समय खरीफ की फसल से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। खेतों में बांझ सोयाबीन खड़ी है। इससे दुखी किसान अब आगे की चिंता करने लगा है। बांझ खड़ी फसल की कटाई के साथ ही खेतों की सफाई का काम भी किसान तेजी से कर रहे हैं। इसके अलावा खेतों में फसल को काटकर भी जलाया जा रहा है। रबी सीजन की जल्दी बोवनी से मिलेगी राहत: किसानों का कहना है कि इस बार सोयाबीन की फसल ने पूरी तरह से बर्बाद कर दिया। अब सिर्फ रबी सीजन की फसलों से उम्मीद है। जिन किसानों के पास पर्याप्त पानी की सुविधा नहीं है। ऐसे किसानों के लिए पर्याप्त समय यही है। जल्दी बोवनी से गर्मी आते ही रबी सीजन की फसलों की कटाई हो जाएगी। इससे सिंचाई के समय में जल स्रोतों में भी पानी पर्याप्त रहेगा।

जलस्रोत हो गए रिचार्ज
बीते दिनों हुई झमाझम बारिश से अब नगर के जल स्रोत भी पूरी तरह से रिचार्ज हो गए हैं। अब इनमें भी पर्याप्त पानी आ गया है। इसका फायदा गर्मी के दिनों में बोर, हैंडपंपों से पानी निकालने में मिलेगा। गर्मी में जल्दी दम तोड़ने वाले जल स्रोतों को भी इस बारिश से काफी फायदा हुआ है।
कुओं, बोर में भी आया पानी: खेतों में सिंचाई के लिए उपयोग करने वाले जल स्रोतों कुओं और ट्यूबवेलों में भी पानी आ गया। खेतों में हरी सब्जियां लगाने वाले ग्राम पाडलिया के किसान संतोष कीर ने बताया कि जून-जुलाई महीने में बारिश नहीं होने से कुएं से ही सब्जियों में पानी दिया। इस बीच लगातार मोटर पंप 8 घंटे तक ही चल पाता था। इसके बाद दो घंटे पंप बंद करने पर सिंचाई कर पाते थे। अब काफी राहत मिली है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें