पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सख्ती:19 अवैध काॅलोनियां बनाने वाले 22 काॅलोनाइजर्स पर एफआईआर के आदेश, ग्रामीण क्षेत्र से होगी शुरुआत

सीहोर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीहोर में इस तरह अवैध कॉलोनियां बनती जा रही है। - Dainik Bhaskar
सीहोर में इस तरह अवैध कॉलोनियां बनती जा रही है।
  • सीहोर शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में 71 काॅलोनियां अवैध
  • शहर की 21 काॅलोनियों के प्रकरण भी बनाकर भेजे

शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी अब अवैध काॅलोनियों का कारोबार काफी जोरों पर है। इन अवैध काॅलोनियों के मालिकों के खिलाफ प्रशासन ने सख्ती का मन बना लिया है। कार्रवाई के पहले चरण में ग्रामीण क्षेत्र की 19 अवैध काॅलोनियों के काॅलोनाइजर्स के खिलाफ एसडीएम ने एफआईआर के निर्देश दिए हैं।

इनके खिलाफ की जाने वाली कार्रवाई के पत्र संबंधित थानों को भेज दिए गए हैं। इसी तरह शहरी क्षेत्र में भी 21 काॅलोनियां अवैध पाई गई हैं। इनके खिलाफ भी कार्रवाई के लिए कलेक्टर को प्रकरण बनाकर भेजे गए हैं।

पिछले काफी समय से देखने में आ रहा है कि जहां जिसका मन है वह वहीं पर चूने की लाइन डालकर कालोनी काटने लग जाता है। पिछले दिनों कमिश्नर ने भी अवैध काॅलोनियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए कलेक्टर अजय गुप्ता को निर्देशित किया था। इसी कड़ी में सीहोर एसडीएम आदित्य जैन ने ग्रामीण क्षेत्र की 19 काॅलोनियों के काॅलोनाइजर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

इन 22 कॉलोनाइजर के खिलाफ होगी कार्रवाई

ग्रामीण क्षेत्र में जो 19 अवैध काॅलोनियां मिली हैं वे सभी शेरपुर और बिजोरी की हैं। शेरपुर की अवैध कालोनियों के लिए जिन पर कार्रवाई होगी उनमें मजीद खां पुत्र शेख उमर खां, संतोष पुत्र भगवान सिंह, रहमान खां पुत्र सुभान, राजीव कुमार पुत्र धर्मवीर, सजन सिंह पुत्र सुखराम पंवार, भगत सिंह पुत्र दीनदयाल, मो. शाहिद पुत्र अब्दुल सलाम, नारायण सिंह पुत्र मोतीलाल, राजकुमार पुत्र राम सिंह, शंकर लाल प्रजापति पुत्र गंगाराम, सुरेंद्र सिंह मेवाड़ा पुत्र बाबूलाल और गणपत पुत्र गोविंद हैं।

इसी तरह बिजोरी के सरजू बाई पत्नी हुकुम सिंह, रीना राठौर पत्नी सुधीर राठौर, गौरव राठौर पुत्र राजीव राठौर, मनीष पुत्र हरिप्रसाद, रजनी पत्नी मनीष, महेश पुत्र रमेश चंद्र, प्रकाश पुत्र बाबूलाल, योगेश शाह पुत्र बाबू भाई, अखिलेश पुत्र प्रेमनारायण, रंजीत पुत्र कालूराम हैं।

नॉलेज: वैध और अवैध काॅलाेनी की परिभाषा

इस समय सबसे अहम सवाल यह है कि लोगों को इस बात का ही ख्याल नहीं रहता है कि शहर में कौन सी वैध कालोनी हैं। सभी कालोनाईजर्स यह कहते हैं कि उनके पास सभी परमिशन हैं। जबकि होता कुछ नहीं है। इसी झांसे में आकर लोग अपनी पूंजी को लगा देते हैं। हालांकि कभी भी यह नहीं बताया जाता है कि शहर में कौन-कौन सी कालोनी ऐसी हैं जहां लोग अपना पैसा लगा सकते हैं। यानि वहां पर वह अपने सपनों का घर बना सकते हैं।

वैध काॅलाेनियाें में ये सुविधाएं जरूरी

विद्युत व्यवस्था: पूरी कालोनी में स्ट्रीट लाइट सहित अन्य नियमानुसार विद्युत व्यवस्था होना चाहिए।

सड़कें: ऐसा नहीं हो कि सड़कों के लिए जगह तो छोड़ दी लेकिन इन्हें बनाया ही नहीं।

जल प्रदाय: लोगों की संख्या के अनुपात से पर्याप्त पानी हो, पेयजल सप्लाई लाइन भी डली होना चाहिए।

जल निकासी व्यवस्था: कालोनी के प्रत्येक घर से पानी निकासी की व्यवस्था हो ।

सीहोर में 71 और आष्टा में 19 काॅलोनियां अवैध

14 सितंबर 2018 की स्थिति में जब शासन स्तर से अवैध काॅलोनियों को वैध करने की कार्रवाई शुरू की गई तो पूरे जिलेभर में सर्वे हुआ था। इस सर्वे में जो अंतिम संख्या निकलकर आई थी उसमें यह पाया गया था कि सीहोर शहर में 71 ऐसी काॅलोनियां हैं जो वैध नहीं हैं।

इसी तरह आष्टा में 19 काॅलोनियां अवैध पाई गई थीं। इछावर की बात करें तो यहां पर 16 काॅलोनी अवैध पाई गई थीं। इसी तरह नसरुल्लागंज में 19, बुदनी में 17 और रेहटी में इनकी संख्या 19 थी। यहां भी कार्रवाई हो सकती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें