पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

16 जुलाई को बंद रहेगी कृषि उपज मंडी:दलहन नीति में बदलाव को लेकर अड़े अनाज व्यापारी

सीहोर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार द्वारा दलहन पर लगाई गई स्टाक सीमा के खिलाफ एक बार फिर व्यापारियों के सुर मुखर होने लगे हैं। 16 जुलाई को गल्ला व्यापारी कृषि उपज मंडी में नीलामी कार्य में भाग नहीं लेंगे। व्यापारियों की घोषणा के बाद कृषि उपज मंडी सचिव रामगोपाल कारपेंटर ने 16 जुलाई को कृषि उपज मंडी में नीलामी बंद रहने की जानकारी दी।

एक विज्ञप्ति जारी कर कहा गया है कि दलहन जिंसों की खरीदी का विरोध करते हुए अनाज व्यापारियों ने 16 जुलाई को 1 दिन के लिए दलहन जिंसों की खरीदी नहीं करने की घोषणा की है। इसके बाद कृषि उपज मंडी 1 दिन के लिए बंद किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

मांग नहीं मानने पर फिर से दलहन जिंस नहीं खरीदने कि चेतावनी व्यापारियों ने दी थी। कृषि उपज मंडी में कार्य करने वाले 3 अनाज व्यापारिक संगठन एकमत होकर केंद्र सरकार की दलहन नीति का विरोध कर रहे हैं। मालवा अनाज व्यापारी संघ अध्यक्ष गोपाल गोयल ने बताया कि अनाज व्यापारी महासंघ के आव्हान पर स्थानीय व्यापारी संघ ने समर्थन देते हुए 1 दिन कृषि उपज मंडी की नीलामी प्रक्रिया में भाग नहीं लेने का निर्णय लिया है। इस संबंध में एक पत्र मंडी सचिव को सौंपा गया।

खबरें और भी हैं...