पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मकान में लूट:रफीकगंज में लूट: पुलिस ने संदेह पर 10 को उठाया

सीहोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जमीन खरीदने के लिए जितने लोग भी पीड़ित से मिले

एक दिन पहले रफीकगंज से 3 किमी दूर खेत पर बने मकान में लूट के मामले में पुलिस अब तक कोई ठोस सुराग नहीं जुटा पाई है। हालांकि पुलिस मामले की हर पहलू से जांच कर संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। इसके साथ ही ऐसे लोग जो पिछले दिनों पीड़ित से जमीन की खरीदी-बिक्री के संबंध में मिलने आए थे उनकी लिस्ट तैयार करके उनसे भी पूछताछ कर रही है। गुरुवार को भोपाल रेंज के डीआईजी संजय तिवारी भी सीहोर आए और घटनास्थल कर बारीकी से मुआयना किया और जांच में तेजी लाने के निर्देश दिए।

ये है मामला
मंडी थाना क्षेत्र के गांव रफीकगंज निवासी भगवत सिंह पुत्र दिलीप सिंह परमार पिछले कई सालों से गांव से करीब 3 किमी दूर क्रेशर वाली पहाड़ियों की तराई में अपने खेत पर ही मकान बनाकर रहते थे। मंगलवार की रात जब भगवत सिंह परमार अपने बेटे धर्मेंद्र के साथ बाहर बरामदे में सो रहे थे और उनकी पत्नी द्रोपती बाई घर में अंदर सो रही थीं। भगवतसिंह ने पुलिस को बताया कि रात करीब 1 बजे 6-7 बदमाश उनके घर आ धमके और पिता-पुत्र के साथ मारपीट की। बदमाश पूछ रहे थे कि उन्होंने जो पुरानी जमीन बेची थी उसके रुपए कहां रखे हैं। बाहर मारपीट की आवाज सुनकर जब उनकी पत्नी बाहर आई तो बदमाशों ने उनके साथ भी मारपीट की और रुपए के बारे में पूछताछ की।

काफी देर तक मारपीट के बाद बदमाश घर में रखे 92 हजार रुपए, भगवतसिंह की पत्नी का मंगलसूत्र और सोने की बाली लूटकर चले गए। इस दौरान बदमाश उनकी 12 बोर बंदूक और 18 जिंदा कारतूस भी ले गए। टीआई मनोज मिश्रा ने बताया कि पिछले दिनों पीड़ित से जमीन की खरीदी-बिक्री के संबंध में जो लोग भी मिले थे उनसे भी पूछताछ की जा रही है। अब तक ऐसे 10 से अधिक लोगों से पूछताछ की गई है।

खबरें और भी हैं...