पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू:जिले में अब तक 81 पक्षियों की मौत, 6 केे सैंपल भेजे, राहत: सभी की रिपोर्ट निगेटिव

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सबसे ज्यादा आष्टा क्षेत्र में 60 कौए और 18 बगुले मरे, बुदनी और सीहोर में एक-एक कौए की मौत, एहतियात के तौर पर रैपिड एक्शन टीम बनाई

प्रदेश के कई जिलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद सीहोर जिले में भी दहशत का माहौल है। क्योंकि जिले में एक-एक करके अब तक कुल 81 पक्षियों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा पक्षी आष्टा ब्लॉक में ही मरे हैं। यहां 60 कौओं, 18 बगुले और 1 कोयल की मौत होने की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। पशु चिकित्सा विभाग को इन पक्षियों के मरने की सही वजह तो पता नहीं चली है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि जिले में अब तक इन्फ्लु एंजा वायरस की पुष्टि नहीं हुई है। हालांकि इससे निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह से तैयारी में जुट गया है। गुरुवार को कलेक्टोरेट में बैठक आयोजित कर आने वाले दिनों की रणनीति तैयार की गई है।

क्या होता है बर्ड फ्लू
पशु चिकित्सा विभाग के उपसंचालक श्री बघेल ने बताया कि कोरोना के साथ अब बर्ड फ्लू का भी खौफ बढ़ता जा रहा है। बर्ड फ्लू एक वायरल इंफेक्शन है जिसे एवियन इन्फ्लूएंजा भी कहते हैं। ये एक पक्षी से दूसरे पक्षियों में फैलता है। वायरस से संक्रमित पक्षियों की मौत भी हो सकती है। ये वायरस संक्रमित पक्षियों से अन्य जानवरों और इंसानों में भी फैल सकता है। जानवरों और इंसानों के लिए भी यह वायरस उतना ही खतरनाक है।

ये हैं पक्षियों में फ्लू के लक्षण
सिर आगे और पैर पीछे की तरफ फैल जाना
सांस लेने में दिक्कत महसूस होना
पंखों का अधिक संख्या में गिरना
अंडा उत्पादन में कमी आना
सिर और मुंह का फूल जाना
टांगों में खून के चकते जमना

रैपिड रिस्पांस टीम भी बनाई

गुरुवार को कलेक्टर अजय गुप्ता ने स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग और पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की संयुक्त रूप से बैठक लेकर एवियन इन्फ्लूएंजा से बचाव और सुरक्षा को लेकर चर्चा की। बैठक में रैपिड रिस्पांस टीम बनाने का निर्णय लिया गया, जिसमें पशु चिकित्सा विभाग के साथ-साथ स्वास्थ्य और वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी शामिल होंगे। जो किसी भी तरह की स्थिति बनने पर तुरंत एक्शन ले सकें। इसके साथ ही पक्षियों के करने व किसी अन्य तरह की सूचना देने के लिए जिला स्तरीय कंट्रोल रूम भी बनाया गया है।

अब तक 62 कौओं की मौत
अब तक जिले में 81 पक्षियों की मौत के मामले सामने आए हैं। इनमें सबसे ज्यादा मरने वाले कौए ही हैं। कौए के साथ-साथ बगुले और कोयल की मौत होने की पुष्टि हुई है। पशु चिकित्सा विभाग की टीम ने इनमें से कुल पक्षियों का पीएम कर जांच के लिए सैंपल भेजे हैं। जिले में जिन पक्षियों की मौत हुई है उनमें सबसे ज्यादा कौए शामिल हैं। अब तक 62 कौए दम तोड़ चुके हैं। गुरुवार को भी सीहोर क्षेत्र में एक कौए मृत अवस्था में मिला। इसके साथ ही 18 बगुले और 1 कोयल की भी इन दिनों मौत हो चुकी है। पिछले दिनों बुदनी क्षेत्र में भी एक कौए की मौत हुई थी। पशु चिकित्सा विभाग ने अब तक 6 मृत पक्षियों के सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजे हैं। जहां से सभी सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें