पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आश्वासन मिलने पर आशा-उषा की हड़ताल स्थगित:1 जून से छह मांगों को लेकर की जा रही थी हड़ताल, बुधवार को फिर शुरू किया काम

सीहोर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के सभी विकासखंड में आशा, उषा और आशा सहयोगियों (सुपरवाइजर) की हड़ताल स्थगित हो गई। 1 जून से 6 सूत्रीय मांगों के निराकरण को लेकर शुरू हुई हड़ताल 5 जुलाई को मानदेय बढ़ोतरी पर राज्य स्तर से कमेटी बनाकर निर्णय लिए जाने के आश्वासन के बाद समाप्त हो गई।

अन्य पांच मांगों पर विचार करने और पूरा करने के लिए एनएचएम भोपाल को समय देने के उद्देश्य यह हड़ताल स्थगित कर दी गई है। जिला अध्यक्ष चिंता चौहान ने बताया कि एक दिन पहले मंगलवार 6 जुलाई को एनएचएम विभाग के अधिकारियों के साथ भी चर्चा हुई जिस पर यह सहमति बनी कि आप वास्तविक मांगों को एक माह के अंतराल में शासन के निर्देशानुसार पूरा किया जाएगा।

जिस पर सभी महिला कार्यकर्ताओं द्वारा दिनांक 6 जुलाई 2021 को शासन व प्रशासन के एक माह के आश्वासन पर हड़ताल समाप्त कर दी गई है और बुधवार से सभी आशा, ऊषा और आशा सहयोगिनी कार्यकर्ता कार्यों पर लौट गई हैं।

इन मांगों के निराकरण का दिया आश्वासन

  • आशा सहयोगी को आशा सुपरवाइजर का दर्जा।
  • 3 साल से आशा कार्यकर्ता और आशा सुपरवाइजर को यूनिफार्म का भुगतान।
  • संबल योजना में पात्रता मिलेगी।
  • मांगों के निराकरण के लिए नेशनल हेल्थ मिशन अंतर्गत समिति का गठन किया जा रहा है।

जिला अध्यक्ष चिंता चौहान का कहना है कि बुधवार से काम शुरू कर दिया है। भविष्य में मांगें पूर्ण नहीं हुई तो फिर पूरी ताकत से हड़ताल की जाएगी।

खबरें और भी हैं...