पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अनदेखी:नलजल योजना का कार्य नहीं हो पाया पूरा तीन दिन में एक समय ही मिल रहा है पानी

सीहोर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 10 करोड़ रुपए की है योजना, 5 किमी पाइप लाइन डल जाए तो नगर में आ सकता है पानी

मुख्यमंत्री पेयजल मिशन से लगभग 10 करोड़ रुपए की नलजल योजना का कम तय समय सीमा के निकल जाने के बाद भी पूरा नहीं हुआ। नगर परिषद नगर में तीन दिन में एक समय ही पानी सप्लाई हो रहा है वो भी पर्याप्त मात्रा नहीं दिया जा रहा है। ठेकेदार को दिसंबर माह की अंतिम समय सीमा दी गई थी। इसके बाद भी परिषद में ओर समय बढ़ा दिया था। सीप नदी से 5 किमी पाइप लाइन डालने का कार्य हो जाए तो नगर में पानी की समस्या हल हो सकती है। नगर में पिछले वर्ष गर्मी का मौसम काफी कष्टदायक रहा, क्योंकि नगर परिषद पानी की ठीक ढंग से व्यवस्था नहीं कर पाई थी। नगर में टैंकरों से पानी खरीदा गया, लेकिन नगरवासी पानी के लिए परेशान रहे। इस साल भी गर्मी का मौसम शुरू होते ही पानी के लिए लोगों को परेशान होते हुए देखा जा सकता है। मुख्यमंत्री पेयजल मिशन के तहत नगर में 9 करोड़ 98 लाख रुपए से नलजल योजना के तहत दो पानी की टंकी, फिल्टर प्लांट बन रहा है। साथ ही सीप नदी पर बन रहे डेम से नगर तक पाइप लाइन डालना था। इसके साथ ही नगर में भी पाइप लाइन डाली जाना है। ठेकेदार ने अभी सीप नदी पर संपवेल का निर्माण किया है। वहीं गंजीबड़ टंकी के पास फिल्टर प्लांट व पशु चिकित्सालय में भी पानी की नई टंकी का निर्माण किया है। वहीं गंजीबड़ पानी की टंकी के पास नई टंकी के लिए पिल्लर खड़े हैं टंकी बनना अभी बाकी है। इस पूरे कार्य की समय सीमा निकल चुकी हैं और ठेकेदार को अंतिम मौके के रूप में दिसंबर माह का समय दिया गया था। दिसंबर माह भी बीत चुका है लेकिन अभी तो कार्य ही शुरू नहीं हुआ है। नगर परिषद ने लसूड़िया से आई पाइप लाइन को धनपाल के ढाबे के पास से टंकी तक ठीक किया है। इससे पांगरी तालाब के पास निजी ट्यूबवेलों से पानी लाए जाने की प्लानिंग नगर परिषद की है। अभी तक नगर परिषद ने यहां से पानी की सप्लाई शुरू नहीं की है।

भविष्य को देखकर बनी योजना
नगर परिषद ने 2035 की जनसंख्या को ध्यान में रखते हुए नल जल योजना तैयार की है। इसके तहत 3500 घरों में नल कनेक्शन दिए जाने हैं। वर्तमान में 1500 नल कनेक्शन हैं और इन सभी परिवारों को तीन दिन में एक समय पानी सप्लाई किया जा रहा है। 

नगर में डालनी है पाइप लाइन
नगर में लगभग 35 किमी लंबी पाइप लाइन डाली जाना है, लेकिन अभी तो 22 किमी लंबी इछावर जामली लाइन के डालने का कार्य भी शुरू नहीं हुआ है। पिछले एक वर्ष से टंकी प्रांगण में पाइप लाकर रख दिए गए हैं, लेकिन लाइन डालने का कार्य शुरू नहीं किया गया।
पाइप लाइन डालना जरूरी
नगर के लिए मुख्यमंत्री पेयजल योजना के तहत सीप नदी से पाइप लाइन का डाला जाना बहुत जरूरी है। लसूडिय़ा कांगर के बाद इस योजना का लाभ नहीं मिला। परिषद के साथ ही अधिकारी भी भ्रष्टाचार में लगे हुए हैं। -सुनील राठी, पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष।
सीप नदी से 2 साल में भी नहीं डाली जा सकी 22 किमी लाइन
कांकड़खेड़ा से इछावर तक 8 किमी लाइन एक सप्ताह में आ गई थी, लेकिन सीप नदी से 22 किमी लाइन आने में 2 वर्ष हो गए। यह सब ठेकेदारों का खेल है, लेकिन इससे नगर वासी पानी के लिए परेशान हो रहे हैं।
-अमित गुप्ता, रहवासी।
कार्य न करने की अधिकारियों को दे दी गई है जानकारी
ठेकेदार द्वारा समय सीमा में कार्य नहीं करने की जानकारी वरिष्ठ कार्यालय को दे दी गई है। ठेकेदार से कहा था कि वो कम से कम पाइप लाइन का कार्य तो पूर्ण कर दे। नगर में पानी की समस्या न हो इसके लिए लगातार प्रयास किए जा रहें हैं। -एनएस चौहान, सीएमओ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें