पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आम के आम गुठलियों के दाम:आधा एकड़ में तालाब और पाल पर तुअर की खेती

सीहोर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 267 किसानों को खेत तालाब से सिंचाई की सुविधा और उत्पादन भी

जिला के बमुलिया सहित अन्य 35 गांवों के किसानों ने अपनी जमीन पर करीब आधा एकड़ में खेत तालाब का निर्माण किया। इससे रबी फसल की सिंचाई के लिए वाटर लेवल तो बढ़ा ही, साथ में इससे अतिरिक्त आय का भी स्रोत निकाल लिया। तालाब की पाल पर बमुलिया के पांच किसानों ने दो साल पहले करीब आधा किग्रा तुअर की बोवनी कर औसतन 2 क्विंटल 50 किग्रा उत्पादन भी लिया।
इसका फायदा देखकर अन्य किसानों ने भी तालाब की पाल पर बोवनी की है। इस समय तुअर की फसल पाल पर लहलहा रही है। 2018 में जिला पंचायत की आईडव्ल्युएमपी परियोजना क्रमांक 7 के ग्राम बमुलिया के किसानों ने तालाब निर्माण कर पाल पर करीब आधा किग्रा तुअर लगाई। जिसका उत्पादन 2.5 से 3 क्विंटल तक हुआ। अब जिले के 35 गांवों में 267 खेत तालाब बने हैं। इनमें किसानों ने पाल पर तुअर की बोवनी की है।
1.5 फीट तक बढ़ा जलस्तर
जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी राजेश राय ने बताया कि तालाब निर्माण से जो आधा एकड़ जमीन खराब हुई है। उससे किसानों के नुकसान की पूर्ति उपज व सिंचाई के पानी से हो रही है। साथ ही भू-जल स्तर 1 से 1.5 फीट तक बढ़ गया है। इससे कि किसानों के जलस्रोतों में अधिक समय तक पानी रह रहा है। इसके अलावा आईडव्ल्युएमपी परियोजना क्रमांक 8 में कुलांस कला, नापली सिकंदर गंज आदि में नाला गहरी करण किया गया। इसके बाद जो मिट्टी निकाली गई, उस पर भी किसानों ने तुअर की बाेवनी की है।

10800 घनमीटर तक पानी की क्षमता
खेत तालाबों के अलावा 35 अर्दन डेम भी बनाए गए हैं। खेत तालाबों का आकार 30 बाई 40 से 60 बाई 60 गुणा 3 मीटर तक है। इनकी जल भराव क्षमता 36 हजार से 10 हजार 800 घनमीटर तक है। जबकि एक हेक्टयेर में सिंचाई के लिए करीब 1000 घन मीटर पानी की जरूरत होती है। इन तालाबों से करीब 991 किसानों की 1283 हेक्टेयर भूमि को रबी में पलेवा के साथ साथ 1 सिंचाई का पानी भी उपलब्ध हो रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप सभी कार्यों को बेहतरीन तरीके से पूरा करने में सक्षम रहेंगे। आप की दबी हुई कोई प्रतिभा लोगों के समक्ष उजागर होगी। जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा तथा मान-सम्मान में भी वृद्धि होगी। घर की सुख-स...

और पढ़ें