पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:कई घरों से दो-दो लोगों ने तोड़ा दम, बच्चों के सिर से उठ गया साया

सीहोर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना का इस कदर कहर कि कई परिवारों पर तो जैसे मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा हो। कई परिवारों ने दो-दो लोग खो दिए हैं। कई बच्चों के सिर से उनके पिता का साया उठ गया तो कई पिता ऐसे हैं जिनके सामने उनके जवान बच्चे चले गए। सीहोर सहित जिलेभर में कई परिवार ऐसे हैं जिनके कोरोना के कारण दो लोगों की मृत्यु हो चुकी है। यही नहीं कुछ के तो अन्य परिजन पॉजिटिव हैं।

कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक है। इस लहर में कई लोगों ने अपनों को खोया है तो कई ऐसे परिवार भी हैं जिनके दो-दो सदस्यों की कोरोना के कारण मृत्यु हो गई। सीहोर की बात करें तो यहां पर करीब तीन परिवार ऐसे हैं जिनके दो-दो सदस्य चले गए। इसी तरह नसरुल्लागंज और आष्टा में भी कई परिवारों पर दुख का यह पहाड़ टूटा है।

सीहोर सहित नसरुल्लागंज और आष्टा में कई ऐसे मामले सामने आए जहां पर एक ही परिवार में दो-दो लोग कोरोना चपेट में आए और मौत हो गई

पिता के बाद दिव्यांग बेटे को भी लील गया कोरोना, शिक्षक वर्ग एक में हुआ था चयन
आष्टा| क्षेत्र के जसमत गांव में पिछले दिनों एक परिवार पर कोरोना काल बनकर आया। पहले पिता की मौत हो गई तो उसके बाद एक पैर से दिव्यांग पुत्र ने भी सीहोर अस्पताल में दम तोड़ दिया। बताया जाता है कि जसमत गांव निवासी रमेशचंद्र शर्मा उम्र 65 वर्ष को एक सप्ताह पहले बुखार आया था। जांच के लिए सिविल अस्पताल गए थे वहां पर उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आने पर भर्ती किया गया था।

एक दिन बाद उनकी आष्टा अस्पताल में मौत हो गई थी। इसके बाद वही लक्षण उनके सबसे छोटे पुत्र लोकेंद्र शर्मा उम्र 30 साल में आने पर सीहोर रेफर किया गया था।यहां पर इलाज के दौरान लोकेंद्र की मौत भी हो गई। बताया जाता है कि एक पैर से दिव्यांग लोकेंद्र का चयन शिक्षक वर्ग एक में हो गया था।

दो दिन में कोरोना की चपेट में आए पति-पत्नी ने तोड़ा दम
कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर पति-पत्नी ने दो दिन के अंतराल में पिछले दिनों आखिरकार दम तोड़ दिया। दोनों ही पति पत्नी को संक्रमित होने के बाद सीहोर रेफर किया गया था। यहां पति ने 20 एवं पत्नी ने 22 अप्रैल की शाम को दम तोड़ा। उनके निधन का समाचार सुनकर नगर सहित समाज व परिवार के लोग स्तब्ध रह गए थे।

नगर के एक बैंक में गार्ड के पद पर तैनात ओमप्रकाश भाटी की रिपोर्ट पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव आई थी। इसके चलते इलाज के लिए वह नगर के सिविल अस्पताल में भर्ती हुआ था। इसी दौरान उसकी पत्नी संगीता भाटी को भी समस्या होने लगी। उनका भी टेस्ट कराया गया तो उनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। इसलिए दोनों को इलाज के लिए सीहोर सिविल अस्पताल रेफर किया गया। लगभग 4 से 5 दिन तक लगातार इलाज चलने के बाद दोनों पति पत्नी ने दो दिन के अंतराल में दम तोड़ दिया। मृतक परिवार में एक बेटा और एक बेटी हैं।

दो साल पहले बेटी की हो चुकी है शादी, 24 साल का है बेटा

दो साल पहले 2018 में बेटी की शादी देवास में हो गई है। 24 साल का बेटा जिसने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है और बैंक एग्जाम की तैयारी कर रहा है। आर्मी में हुए थे भर्ती: जानकारी के अनुसार ओमप्रकाश भाटी का पूरा जीवन संघर्ष के साथ बीता था।

6 साल की उम्र में ही माता पिता की मृत्यु हो जाने से वह पूरी तरह टूट गए। इस दौरान 1993 में आर्मी में भर्ती हुए जहां 15 साल तक देश की सेवा की। इस दौरान उनकी शादी हो गई। आर्मी से रिटायरमेंट के बाद वह एसबीआई बैंक में गार्ड के पद पर पदस्थ हुए जहां 12 साल से सेवारत थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें