अपने ही गांव में पानी का संकट देख शिवराज आगबबूला:बोले- अब क्या 1-1 टोंटी चेक करूंगा, मुख्यमंत्री हम्माली करेगा क्या?

सीहोरएक महीने पहले

‘क्या अब मुख्यमंत्री हम्माली करेगा? नलों की एक-एक टोटी चेक करेगा? पानी आ रहा है कि नहीं? तुम करते क्या हो? 15 दिन का समय दे रहा हूं। पूरा चेक करो और ठीक करो। मुझे रिपोर्ट करो। इसके बाद कहीं से शिकायत आई तो फिर खैर नहीं। एक-एक को सही कर दूंगा।’ ये तीखे तेवर सीएम शिवराज सिंह चौहान के हैं, दरअसल वे अपने गृहग्राम जैत में थे, वहां ग्रामीणों ने पानी को लेकर शिकायत की तो सीएम पीएचई अधिकारियों पर बिफर गए।

शनिवार को मुख्यमंत्री के जैत दौरे के दौरान उनके गांव और आस-पास के गांव के लोगों ने पानी नहीं आने को लेकर ढेर सारे आवेदन थमा दिए। यह देखकर वे नाराज हो गए। उन्होंने 15 दिन का समय देकर सब कुछ सही करने की चेतावनी दी।

‘शिकायत मिली तो तुम नहीं रहोगे’
शिवराज ने कहा- मेरे ही क्षेत्र में सब जगह पानी नहीं जा रहा है। एक-एक आवेदन मैं कहां तक देखूंगा? यह मेरा काम है क्या? एक साथ आवेदन दे रहा हूं और 15 दिन बाद मैं पूछूंगा। यदि एक जगह से भी शिकायत आ गई तो तुम नहीं रहोगे।

15 दिन बाद कमिश्नर और कलेक्टर चेक करेंगे
शिवराज ने कहा है कि टंकी बनानी होगी तो टाइम लगेगा। नर्मदा का पानी लाने में इतना पैसा सरकार ने इन्वेस्ट किया है। आधे गांव में पानी, आधे में पानी नहीं। फिर इसका क्या मतलब है। 15 दिन बाद कमिश्नर और कलेक्टर खुद चेक करेंगे। जहां गड़बड़ मिली, वहां मैं एक तरफ से ठीक कर दूंगा। अब शिकायत आई तो फिर खैर नहीं।