पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समस्या:गली व मोहल्लों में सड़क पर बिखरी पड़ी निर्माण सामग्री, नप नहीं कर रही कार्रवाई

सिलवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आवागमन में वाहन चालक हो रहे परेशान, प्रशासन नहीं कर रहा कार्रवाई
  • 650 पीएम आवास योजना का हो रहा निर्माण, किसी ने नहीं ली निर्माण की अनुमति

नगर के गली मोहल्लों में निर्माण सामग्री सड़क पर बिखरी पड़ी है। इस कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसी भी निर्माण के दौरान सामग्री को सड़क किनारे नही रखा जा सकता हैं, लेकिन नगर में बड़े पैमाने पर कामर्शियल व आवासीय भवन चल रहे हैं।

निर्माणकर्ताओं के द्वारा निर्माण सामग्री लोहा, ईंट, गिट्टी को सड़क पर ही रखा जा रहा हैं, जिसे लोग परे हो रहे है। सड़क पर निर्माण सामग्री बिखरी होने व लोगो को हो रही परेशानी नगर परिषद कोई इत्तफाक नही रख रही है। नप के द्वारा अभी तक किसी भी निर्माणकर्ता के खिलाफ सामग्री सड़क पर रखे जाने को लेकर कार्रवाही नही की गई है।

15 वार्डों में विभाजित नगर की ऐसी कोई गली या सड़क नही है जहां कि भवन निर्माण सामग्री सड़क पर ना बिखरी हो। इन निर्माण कार्यों के दौरान ट्रैक्टर ट्राली व ट्रक से परिवहन होने वाली सड़क पर ही बिखरी पड़ी है। हालांकि सड़क पर अस्थाई दुकान लगने वाले फुटकर दुकानदारों से नगर परिषद के द्वार प्रति दिन तय राशि वसूली जा रही है, लेकिन सड़क पर निर्माण सामग्री बिखरी पड़ी होने से आवागमन में बाधक बन रहे भवन निर्माण कर्ताओं पर नगर परिषद कार्यवाही करने मे अक्षम साबित हो रहा है।

सड़क पर निर्माण सामग्री से यातायात बाधित होने की स्थिति में संबंधित व्यक्ति पर जुर्माना भी किया जा सकता है। साथ ही निर्माण सामग्री भी जब्त की जा सकती है। अनुमति के वक्त हिदायत नही देती नगर परिषद: नगर में चंद लाेगों के द्वारा ही कमर्शियल व आवासीय भवन निर्माण की विधिवत अनुमति नगर परिषद से ली गई है, लेकिन नगर परिषद के द्वारा अनुमति लेने वाले भवन निर्माणकर्ताओं को कोई हिदायत नहीं दी गई है।

नगर मे मुख्य मार्ग सहित गली मोहल्लों में भवन निर्माण कार्य जोरों पर चल रहा है। इन सभी स्थानों पर निर्माण सामग्री सड़क पर बिखरी हुई है, लेकिन कार्यवाही ना होने से भवन निर्माणकर्ताओं के होंसले बुलंद है। 5 माह में 40 ने ली भवन निर्माण की अनुमति: नगर में बड़े पैमाने पर कामर्शियल व आवासीय भवनों का निर्माण कार्य जोरों पर है, लेकिन चंद लोगों के द्वारा ही नगर परिषद से निर्माण की अनुमति ली गई है।

नगर परिषद सूत्रों ने बताया कि जनवरी से मई माह तक करीब 40 लोगों के द्वारा ही कामर्शियल व आवासीय भवन निर्माण की अनुमति ली गई है। बाकी लोगों के द्वारा कोई अनुमति भवन निर्माण की नही ली गई है। नगर में सेंकड़ाें की संख्या में भवन निर्माण कार्य किया जा रहा है।

4 लाख की हुई राजस्व की प्राप्ति: नगर में करीब 40 लोगों के द्वारा भवन निर्माण की अनुमति नगर परिषद से ली गई है 40 लोगों के द्वारा अनुमति लेने पर नप को करीब 4 लाख रुपए की राजस्व की प्राप्ति होना बताया जा रहा है। यह राशि नगर के विकास कार्यों में व्यय की जाएगी।

वाहन चालक हो रहे चाेटिल
सड़कों पर भवन निर्माण सामग्री बिखरी पड़ी होने से आवागमन बाधित हो रहा है। निर्माण सामग्री बीच सड़क पर होने से वाहन स्लिप होकर दुर्घटना ग्रस्त हो रहे हैं।

600 से अधिक चल रहे निर्माण
नगर पर प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत करीब 650 से हितग्राहियों के द्वारा आवास का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। प्रत्येक हितग्राहियों के बैंक खाते में प्रथम किस्त के रुप में नगर परिषद के द्वारा एक-एक लाख रुपए की राशि जमा कराई गई थी, लेकिन पीएम आवास योजना के किसी भी हितग्राही के द्वारा भवन निर्माण की अनुमति नही लेना बताया जा रहा है

सड़कों पर सामग्री डालना गलत
पीएम आवास योजना के आवासों का निर्माण तय मापदंड से होना चाहिए। अन्य भवन निर्माणकर्ताओं द्वारा बगैर अनुमति निर्माण कराया जा रहा है तो उसकी जांच कराई जाएगी। इसके अलावा सड़कों पर भवन निर्माण सामग्री नहीं रखी जा सकती। नहीं तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। -आरके शर्मा, सीएमओ, सिलवानी।

खबरें और भी हैं...