जमुनिया हाई स्कूल में हुआ राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर कार्यक्रम:आपदाएं मानव और पर्यावरण के लिए गंभीर खतरा हंै: स्नेहलता श्रीवास्तव

सिलवानी9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय विज्ञान व प्रौद्योगिकी संचार परिषद्, विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार एवं मप्र विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के दिशा निर्देशों से राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का आयोजन शासकीय उमावि जमुनिया में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की मुख्य थीम फ्यूचर आफ एससीआई इंपेक्ट ऑन एजुकेशन, स्किल एण्ड वर्क थी। कार्यक्रम मे मुख्य रुप से प्राकृतिक आपदा से सुरक्षा कार्यशाला आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य स्नेहलता श्रीवास्तव ने किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आपदाएं मानव जाति एवं पर्यावरण के लिए गंभीर खतरा है। इस की समझ छात्र-छात्राओं को होना आज की आवश्यकता है। विज्ञान की समझ रखने वाले प्रत्येक व्यक्ति की यह जिम्मेदारी है कि वह विज्ञान का प्रचार प्रसार करे। संस्था के शिक्षक एवं स्त्रोत व्यक्ति महेन्द्र सिंह ठाकुर ने बताया कि स्थानीय परिवेश मे बाढ़,आग, सड़क के किनारों मे गड्ढों से दुघर्टनाएं, ग्रामीण परिवेश मे विषेलेजीव जन्तुओं के काटने, आकाशीय बिजली आदि से हर वर्ष कई घटनाओं से मृत्यु हो जाती है। यदि उन्हें इस संबंध में बेसिक जानकारी के साथ मॉकड्रिल का अनुभव कराया जाए तो जोखिम को काफी हद तक हम कर सकते है।

विज्ञान के चमत्कारों का प्रदर्शन किया

कार्यक्रम के समन्वयक राज कुमार खरे और अर्जुन सिंह कुशवाह ने बताया कि विज्ञान दिवस के अवसर पर चमत्कारों का प्रदर्शन एवं व्याख्या की गई। कार्यशाला में डॉ सीवी रमन की जीवनी एवं रमन प्रभाव पर व्याख्यान, पोस्टर प्रदर्शनी एवं प्रश्न मंच प्रतियोगिता, फिल्म का प्रदर्शन, स्कूल मे आपदा जैसे आग, भूकम्प की मॉक ड्रिल, आग के प्रकार समझना और आग से बचने के उपाय एवं आग बुझाने की मॉक ड्रिल किया गया।
प्रतियोगिताओं के विजेताओं को किया गया पुरस्कृत

कार्यक्रम के दौरान चित्रकला एवं प्रश्न मंच सहित अन्य प्रतियोगिताएं संपन्न की गई। जिसमें विजेता अजय साहू, किर्ती गौर, नेहा धुर्वे, दर्शन खंगार, रितिक प्रजापति छात्र को अतिथियों के द्वारा प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह वितरित कर सम्मानित किया गया। शाला के शिक्षक संजीव श्रीवास्तव, कल्पना श्रीवास्तव, मेघा जैन, पूना यादव, बलराम राय, मनीष विश्वकर्मा, राजाबाबू, राम किशन प्रजापति का सक्रिय योगदान रहा।

खबरें और भी हैं...