• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Sironj
  • A Case Of Murder Was Registered Against The Driver And The Demonstration Started From 10 Am To Suspend The TI And Went On Till The Evening.

आरक्षक के अंतिम संस्कार के बाद...:चालक पर हत्या का केस दर्ज और टीआई को निलंबित करने सुबह 10 बजे से शुरू प्रदर्शन शाम तक चला

सिरोंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदर्शन के दाैरान अधिकारियों और ग्रामीणाें के बीच बहस के हालात भी बने। - Dainik Bhaskar
प्रदर्शन के दाैरान अधिकारियों और ग्रामीणाें के बीच बहस के हालात भी बने।

दीपनाखेड़ा में रहने वाले बहादरपुर थाने के आरक्षक कुलदीप रघुवंशी की सोमवार को सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। सुबह वे बाइक से अपने गांव से बहादरपुर के लिए निकले थे। जब वे जगथर गांव के करीब पहुंचे थे तभी सामने से आ रहे लोडिंग वाहन ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। सोमवार को ही देर रात में कुलदीप का दीपनाखेड़ा में अंतिम संस्कार किया गया। लेकिन मंगलवार को नया मोड़ आया।

सुबह अनेक ग्रामीण गांव की मुख्य सड़क पर सुबह 10 बजे पहुंच गए और नारेबाजी करने लगे। ये सभी ग्रामीण कुलदीप की बाइक को टक्कर मारने वाले लोडिंग चालक पर हत्या का प्रकरण दर्ज करने की मांग करने के साथ दीपनाखेड़ा थाना प्रभारी सुनील मेहर को निलंबित करने की मांग पर अड़ गए। जब दीपनाखेड़ा पुलिस से मामला नहीं सुलझा तो मौके पर एसडीएम प्रवीण प्रजापति, एसडीओपी अजीत पटेल, अतिरिक्त तहसीलदार अनीता पटेल और नायब तहसीलदार सीके ताम्रकार भी पहुंच गए। इसके बाद दोपहर में डीएसपी सौरभ तिवारी भी मौके पर पहुंचे।

ग्रामीणों की जिद को देखते हुए मौके पर आसपास के थानों का पुलिस बल भी पहुंच गया। इस बीच कई बार अधिकारियों और ग्रामीणों के बीच बहस और बातचीत का दौर भी चला लेकिन समाधान शाम 4 बजे के बाद अधिकारियों द्वारा दी गई एक सप्ताह में जांच के आश्वासन के बाद हुआ।

दिनभर बंद रहीं दुकानें, एक सप्ताह में समाधान के आश्वासन के बाद माने ग्रामीण

हत्या की शंका और पुलिस की संलिप्तता का अंदेशा
ग्रामीणों ने कुलदीप की हत्या होने की शंका होने के पीछे तर्क भी दिए। उनका कहना था कि लोडिंग चालक का परिवार संदिग्ध गतिविधियों में पहले से ही शामिल रहता है। तीन-चार दिन पहले कुलदीप के भाई ने खलील के परिजनों को उनके पशु को घर में बांध कर रखने को कहा था। उस समय उन लोगांे ने देख लेने की बात कही थी। ग्रामीणों का कहना था कि दुर्घटना के बाद खलील शाह खुद ही अपना वाहन लेकर थाने में आ गया था और इसके बाद से ही पुलिस ने उसे सुरक्षा दे रखी है। पुलिस मामले में ठोस कार्रवाई नहीं कर रही।

दीपनाखेड़ा में रघुवंशी समाज ज्यादा
पथरिया-बामौरीशाला मार्ग पर स्थित दीपनाखेड़ा रघुवंशी समाज बाहुल्य गांव है। गांव में कुछ घर मुस्लिमों के भी है। इन्हीं में खलील शाह का परिवार भी है। घटना के बाद खलील का पूरा परिवार घर में ताला लगा कर कहीं चला गया है। मंगलवार को गांव का बाजार दिनभर बंद रहा ।

चालक अभी अभिरक्षा में है: पटेल
एसडीओपी अजीत पटेल ने बताया कि लोडिंग चालक खलील शाह पर सोमवार से पुलिस अभिरक्षा में है। एक सप्ताह के भीतर मामले की जांच करने का आश्वासन दिया है। सिरांेज टीआई गिरीश दुबे दुर्घटना के मामले में की जांच कर रहे हैं और विदिशा सीएसपी सौरभ तिवारी दीपनाखेड़ा थाना प्रभारी से जुड़े मामले की जांच करेंगे।

खबरें और भी हैं...