कोरोना काक कहर / एक दिन में ही 5 कोरोना पॉजिटिव मिले, 4 भोपाल और 1 में रायसेन में आते-जाते रहे, आंकड़ा 49 पर

5 Corona positives were found in a single day, 4 in Bhopal and 1 in Raisen, moving on, figure 49
X
5 Corona positives were found in a single day, 4 in Bhopal and 1 in Raisen, moving on, figure 49

  • 41 कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके, 8 एक्टिव

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

विदिशा. जिले में एक साथ एक ही दिन में 5 कोरोना पाजीटिव मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। 5 में से 4 मरीज भोपाल और 1 मरीज रायसेन जाने के कारण संक्रमण की चपेट में आया। अब तक जिले में कुल 49 मरीज कोरोना मरीज संक्रमण के शिकार हो चुके हैं। 5 में से 3 मरीज विदिशा और 2 मरीज सिरोंज के रहने वाले हैं। सभी का इलाज अस्पताल में चल रहा है। पांचों मरीजों के संपर्क में आए लोगों की भी जांच चल रही है। 
इन सभी मरीजों के निवास क्षेत्र को प्रशासन ने कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया है। 5 मरीजों में से विदिशा शहर के रंगियापुरा मोहल्ले में 2, आज्ञाराम कालोनी  में 1 मरीज मिला है। वहीं जिले के सिरोंज स्थित वार्ड नंबर 21 हाथी थान क्षेत्र  की रहने वाले 40 साल की एक महिला मेहरूनबी कोरोना पॉजिटिव निकली है । यह महिला 25 जून को सिरोंज से भोपाल गई थी। वहां उसे ब्लीडिंग की शिकायत हुई। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस दौरान उसकी कोरोना संक्रमण की जांच भी हुई। इस पर महिला कोरोना पॉजिटिव निकली है । महिला का इलाज भोपाल में चल रहा है। विदिशा जिले में अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 49 हो गई है। इसमें से 41 मरीज कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। 8 अभी एक्टिव केस हैं।

सिरोंज: 2 मरीज निकले पाॅजिटिव   
 भोपाल इलाज करवाने गई 40 वर्षीय महिला और 35 वर्षीय जनशिक्षक कोरोना पाॅजिटिव निकले हैं। मंगलवार को जानकारी सामने आने के बाद प्रशासन ने इन दोनों के घरों और आसपास के इलाकों को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया है। प्रशासन द्वारा इन दोनों की कांटेक्ट हिस्ट्री तलाशने के साथ ही घरों के आसपास सर्वे भी करवाया जा रहा है। बीएमओ प्रमोद दीवान ने बताया कि नगर के वार्ड 5 में हाथी थान इलाके में रहने वाली महिला को पांच दिन पहले ब्लीडिंग की शिकायत के बाद परिजन बामौरा रोड पर स्थित मेट्रो अस्पताल लेकर गए थे। यहां से परिजन 25 जून को महिला को भोपाल के केयर अस्पताल में लेकर गए थे। यहीं पर सैंपलिंग के बाद 29 जून को महिला कोरोना पाॅजिटिव मिली है।

कंटेनमेंट एरिया को लेकर प्रशासन भी लापरवाह

 मंगलवार सुबह प्रशासन की टीम हाथी थान इलाके में रहने वाली महिला के घर पहुंची। उसके घर के सामने स्थित सड़क पर आवागमन बंद न करते हुए आसपास की गलियों में बेरीकेट्स लगा कर रास्ता बंद कर दिया है। मंगलवार दोपहर में जब दैनिक भास्कर की टीम इस एरिया में पहुंची तो आसपास मौजूद लोगों ने बताया कि महिला के घर का सदस्य बाहर बैठा हुआ है। जब फोटोग्राफर सक्रिय हुए तो वह उठ कर घर में चला गया। घर के बाहर बैठे पुलिस के जवान ने कोई रोक-टोक नहीं की।


जनशिक्षक ने डाॅक्टरों से कराया इलाज
कुरवाई रोड पर स्थित सारथी सिटी कालोनी में रहने वाले शिक्षक को बीते एक सप्ताह से खांसी और बुखार की शिकायत थी। इसके बाद उसने सिरोंज के 2 डाक्टरों के यहां इलाज करवाया और दो दिन पहले वह लिंक रोड पर स्थित आरोग्य अस्पताल में जांच करवाने गया था। प्रबंधन ने उसे भोपाल जाने की सलाह दी और रविवार को ही वह भोपाल पहुंचा। वहां पर निजी अस्पताल में इलाज नहीं मिलने पर शिक्षक को उसके साथ गए भाई ने हमीदिया अस्पताल में भर्ती किया। यहीं पर सैंपलिंग के बाद उनकी रिपोर्ट पाजीटिव आई है। राजीव गांधी स्मृति चिकित्सालय के प्रभारी डाक्टर राहुल चाऊदा ने बताया कि दोनों की कांटेक्ट हिस्ट्री की तलाश की जा रही है। 

कांटेक्ट हिस्ट्री... विदिशा के रंगियापुरा में जो पिता-पुत्र संक्रमित िमले वो भोपाल में अपने डॉक्टर बेटे से मिलने को जाते रहे

विदिशा के दो पिता-पुत्र और एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संक्रमित:  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि जिले में 5 मरीजों के सेम्पल कोरोना वायरस कोविड-19 पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जिला चिकित्सालय की ट्रूर नॉट मशीन से जांच में जिन 3 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। उनमें आज्ञाराम कालोनी में निवासरत 47 वर्षीय व्यक्ति है जो जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन कार्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है। इसके अलावा रंगियापुरा निवासी पिता पुत्र शामिल हैं। इन तीनों मरीजों को मेडिकल कॉलेज के कोविड केयर सेन्टर में भर्ती कर चिकित्सकों की निगरानी में उपचार किया जा रहा है। सिरोंज के दोनों मरीजों का इलाज भोपाल में चल रहा है।
अपने डाॅक्टर बेटे से मिलने भोपाल जाते थे पिता-पुत्र: शहर के रंगियापुरा में जो पिता-पुत्र कोरोना संक्रमण के शिकार पाए गए हैं, उन दोनों का भोपाल तक आना-जाना था। पिता के 2 पुत्रों में एक संक्रमित पाया गया है तो उसका दूसरा बेटा छोला रोड भोपाल में डाक्टर है। इस कारण उसके डाक्टर बेटे और उसके पिता का विदिशा से भोपाल तक आना-जाना होता था। बेटा भी अपडाउन करता था। भोपाल से ही वह संक्रमण का शिकार हुआ। इसके अलावा सिविल सर्जन कार्यालय का चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का रायसेन में आना-जाना था। वह अपनी पत्नी और बच्चों को लेकर रायसेन गया था। वहीं से लौटकर आने के बाद संक्रमण का शिकार हो गया।
भोपाल गए थे इलाज कराने, वहां निकले संक्रमित: सिरोंज तहसील में एक 35 वर्षीय पुरुष एवं 40 वर्षीय महिला अपना उपचार कराने भोपाल गए थे। इन दोनों मरीजों का सेम्पल लेने के बाद जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव प्राप्त हुई। पुरुष हमीदिया अस्पताल में एवं महिला भोपाल केयर हास्पिटल में भर्ती है। यहां चिकित्सकों की निगरानी में उसका उपचार किया जा रहा है। सीएमएचओ ने संबंधित क्षेत्र के खण्ड बीएमओ और अर्बन नोडल अधिकारी एवं एमएमयू टीम को इन पांचों के निवास क्षेत्र एवं कर्मचारी के कार्यक्षेत्र में संपर्क में आए लोगों की जांच कराने को कहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना