पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेत माफिया:16 वैध खदानों से निकलती है 50 हजार घन मी. रेत, इससे 4 गुना माफिया निकालता है

विदिशा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में प्रमुख नदियों से पानी का स्तर कम होते ही रेत माफिया एक बार फिर सक्रिय हो गया है। इन दिनों बेतवा, बाह, नेवन आदि नदियों से अंधाधुंध रेत निकाली जा रही है। इसके लिए मोटर बोट और पनडुब्बी का उपयोग भी किया जा रहा है। नदियों से पानी कम होते ही जनवरी से लेकर जून तक सबसे ज्यादा नदियों से रेत का अवैध उत्खनन किया जाता है।

प्रशासन ने कार्रवाई तो शुरू की है लेकिन खनिज विभाग के पास पर्याप्त अमला नहीं होने के कारण रेत माफिया के लोग पकड़ में नहीं आ रहे हैं। वैध से चार गुना ज्यादा अवैध रेत उत्खनन चल रहा है। खनिज विभाग के पास केवल 1 इंस्पेक्टर ही है जिसके पास 16 रेत और 116 पत्थर खदानों के निरीक्षण की जिम्मेदारी है। नतीजा हर साल जिले की नदियों से 2 लाख घन मीटर से ज्यादा अवैध रेत उत्खनन किया जाता है। जबकि 16 वैध खदानों केवल से 50 हजार घन मीटर रेत निकालने की स्वीकृति ही मिली हुई है। जिला करीब 7500 वर्ग किमी इलाके में फैला हुआ है। इसमें अकेले बेतवा नदी का बहाव क्षेत्र 125 किमी लंबा है।

इन घाटों पर चलता है अवैध उत्खनन

जिले में गुलाबगंज के पास ककरुआ, गंजबासौदा, कुरवाई के रूसिया, दवेली, लायरा, बोथी और पानघाट में बड़ी मात्रा में बेतवा किनारे अवैध उत्खनन और परिवहन का काम किया जाता है।

इन कमियों से जूझ रहा विभाग... माफिया के लोग पानी से निकालते हैं रेत, विभाग के पास अब तक कोई तैराक नहीं

माफिया के लोग मोटर बोट, पनडुब्बी और जेसीबी के जरिए नदी की गहराई से रेत निकालते हैं। खनिज विभाग की टीम जब मौके पर पहुंचती है तो माफिया के लोग मोटर बोट अथवा नदी में तैर कर भाग जाते हैं लेकिन खनिज विभाग के पास तैराक और सुरक्षा बल नहीं होने से माफिया के लोग कारगर कार्रवाई नहीं कर पाते हैं। सुरक्षा के लिए खनिज विभाग के पास एक भी सैनिक नहीं: रेत माफिया पर कार्रवाई के समय हमले का भी डर बना रहता है। खनिज के पास केवल साल 2017 के बाद से एक भी सैनिक उपलब्ध नहीं है। इससे पहले होमगार्ड का एक जवान था।

2020 में 153 प्रकरणों में 28 लाख 70 हजार वसूले

खनिज विभाग ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में अवैध उत्खनन, परिवहन और भंडारण के 153 प्रकरण बनाए हैं। इनसे 28 लाख 70 हजार रुपए जुर्माना वसूला गया है। 153 वाहन जब्त किए गए हैं। 10 मशीनरी को राजसात किया गया है। चालू वित्तीय वर्ष में अब तक 15 करोड़ के टारगेट के विरुद्ध अब तक 9 करोड़ 52 लाख रुपए राजस्व की वसूली की गई है। विभाग ने साल 2019 में अवैध उत्खनन के 23, अवैध परिवहन के 180 तथा अवैध खनिज भंडारण के 22 मामले दर्ज किए हैं।

बासौदा... 6 खदानों पर चलता है अवैध उत्खनन, 3 सप्ताह पहले 4 पनडुब्बियां जब्त भी की थीं

गंजबासौदा तहसील में 2 रेत की खदान ग्राम खरतरी और गोची मैं स्वीकृत हैं। लेकिन करीब आधा दर्जन स्थानों से रेत निकाली जाती है। रेत का मुख्य स्रोत बेतवा नदी है। इसी के चलते पनडुब्बियों के सहारे बड़े पैमाने पर रेत निकाली जाती है। खास बात है बासौदा और कुरवाई के सीमावर्ती क्षेत्रों से रेत का कारोबार सागर जिले के खुरई तक चलता है। इसी के कारण रेत का अवैध कारोबार फलता -फूलता है। 3 सप्ताह पहले स्थानीय और जिला प्रशासन ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए बेतवा नदी से 4 पनडुब्बियों को जब्त किया था।

कुरवाई... वैध खदानों के बाजू से रास्ता बनाकर नदी से निकालते हैं रेत, रोकने वाले कोई नहीं

कुरवाई में बेतवा किनारे भौंरासा, मल्हारगढ़ के बीच पानघाट में अवैध रेत उत्खनन बड़े पैमाने पर होता है। वहीं सिरावली, बिशनपुर, फिल्टर प्लांट के नजदीक जो वैध खदानें हैं, उनके बाजू से नया रास्ता बनाकर अवैध उत्खनन किया जाता है। वैसे यहां 7 वैध खदानें हैं लेकिन इससे ज्यादा अवैध खदानें चल रही हैं। जिन्हें रोकने वाला कोई नहीं।

विदिशा... रिवर बेल्ट पर काटे जा रहे हरे पेड़, 2 घंटे इंतजार के बाद कोई जिम्मेदार नहीं आया

बेतवा नदी के रिवर बेल्ट पर अवैधानिक तरीके से जेसीबी द्वारा मिट्टी निकाली जा रही है। वहीं लगभग सैकड़ों हरे वृक्षों को काटा जा रहा है। महल घाट के सामने वाले रिवर बेल्ट पर यह अवैध काम हो रहा है। यह आरोप पर्यावरण मित्र नीरज चैौरसिया ने लगाए। उनका कहना है कि इस संबंध में सूचना तहसीलदार सरोज अग्निवंशी को मोबाइल द्वारा दी गई तो उन्होंने उत्तर दिया कि मैं दिखवाती हूं। 2 घंटे इंतजार करने के बाद भी जब कोई संबंधित कार्यालय से नहीं आया तो तहसीलदार का फोन किसी अन्य व्यक्ति ने उठाया और बताया कि मैडम मीटिंग में व्यस्त हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें