समय पर इलाज से लाभ:फेफड़ों में था 60% इंफेक्शन, हौसले से जीती जंग

विदिशा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
60 फीसदी फेफड़ों में इंफेक्शन था, लेकिन हौसले से 70 साल की उम्र में भी 12 दिन के इलाज के बाद कोरोना को हरा दिया। - Dainik Bhaskar
60 फीसदी फेफड़ों में इंफेक्शन था, लेकिन हौसले से 70 साल की उम्र में भी 12 दिन के इलाज के बाद कोरोना को हरा दिया।
  • 70 वर्षीय महिला को 17 अप्रैल को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था

कोरोना से सर्वाधिक खतरा वृद्धजनों को रहता है। वहीं बड़ा बाजार निवासी 70 वर्षीय किश्वर जहां ने हौसलों की दम पर कोरोना से जिंदगी की जंग जीत ली। डाक्टरों की मानें तो बुजुर्ग महिला ने तेजी से रिकवर किया। बुधवार को उन्हें मेडिकल कालेज से डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्हें 17 अप्रैल को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था।

सरोश सिराज का कहना है कि मां की तबीयत खराब थी। उनकी सीटी स्कैन कराई तो फेफड़ों में करीब 60 फीसदी इंफेक्शन था। इसके बाद फीवर क्लीनिक में उनकी कोरोना जांच कराई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। मेडिकल कॉलेज में सही समय पर इलाज हुआ तो वे ठीक होकर घर आ गईं

हिम्मत रखने पर जीत सकते हैं हर जंग
बुजुर्ग किश्वर जहां का कहना है कि मेरे परिवार के लोगों ने मेरा खूब हौसला बढ़ाया। मैं वादा करके गई थी कि ठीक होकर ही लौटूंगी। मैंने जो इरादा किया था उसे पूरा भी किया। हिम्मत से हम हर जंग जीत सकते हैं।

डाॅक्टर बोले- सही समय पर कराएं इलाज
मेडिकल कॉलेज के डाॅ. वैभव जैन का कहना है कि मरीज का सही समय पर इलाज जरूरी है। ज्यादा उम्र के मरीजों को ठीक होने में थोड़ी देर लगती है लेकिन ठीक हो जाते हैं। जो मरीज घर पर आइसोलेशन में हैं वे उल्टा लेटकर दिन में तीन बार आधा-आधा घंटे रहें। इससे आक्सीजन का लेवल ठीक रहता है। जिन लोगों ने वैक्सीन लगवाई है वे जल्दी ठीक होते हैं। लोगों को ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन लगवाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...