पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

4 गांव की लाइव रिपोर्ट:कुंभ जाने वालों के टिकट कैंसिल कराए रिश्तेदारी में आना-जाना पूरी तरह से बंद

विदिशा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चुनियाखाेह में 10 बेड का आइसाेलेशन सेंटर बनाया गया है। - Dainik Bhaskar
चुनियाखाेह में 10 बेड का आइसाेलेशन सेंटर बनाया गया है।
  • छोटे-छोटे प्रयासों से आज खुद के साथ दूसरों को संक्रमण से रख रहे दूर

जिले में लापरवाही बढ़ने के कारण आज गांव भी संक्रमण से अछूते नहीं है... जिले के 300 से ज्यादा में पीड़ित मरीज है। लेकिन उसने भी पॉजिटिव बात यह है कि उन्होंने समय रहते खुद को संभाल लिया है। परिचितों,रिश्तेदारों से घर न खुद गए , न उन्हें बुलाया। कुंभ जा रहे लोगों की टिकट ही कैंसिल कराए.. भास्कर टीम ने जिले के कुछ गांवों की पड़ताल की तो पता चला कि उन्होंने छोटे-छोटे प्रयासों को जीवन में उतार लिया है... इन प्रयासों की पहली कड़ी....
रिश्तेदारों -परिचितों से कहा- घर मत आना

गोविंद नायक की रिपोर्ट
गंजबासौद के ककरावदा के एक परिवार के 7 लोग संक्रमित होने के बाद लोगों ने सबक लिया। बाहर जाना और बाहर के लोगों का आना बंद किया और संक्रमण पर लगाई लगाम। ककरावदा में सरदार सिंह रघुवंशी एक सामाजिक कार्यक्रम में गए थे। उनके संपर्क में आने के बाद पारिवारिक के ही चार लोग बजा बाई , राम श्री, शिवानी संक्रमित हो गए। इसी परिवार के ओंकार सिंह अपने एक रिश्तेदार के संपर्क में आने से वह संक्रमित हुए। उनके साथ संपर्क में आने वाली उनकी पत्नी उषा बाई व दीवान सिंह संक्रमित हुए।

उपचार के बाद हालांकि सभी ठीक हो गए। लेकिन इस घटना से परिवार व गांव के लोगों ने सबक लिया। रिश्तेदारी व सामाजिक समारोह में आना जाना पूरी तरह बंद कर दिया। यहां तक की कुंभ मेले में जाने के लिए जो रेल टिकट बुक कराए थे उन्हें भी कैंसिल कर दिया। अपने रिश्तेदारों और परिचितों के गांव आने पर रोक लगा दी। परिणाम यह हुआ। इसके बाद आज तक गांव में कोई भी संक्रमित नहीं हो पाया।

मास्क और सैनिटाइजर से की दोस्ती, हमेशा रखते हैं साथ

सिर्फ दूध-सब्जी वालों को आने जाने की छूट

प्रमोद साहू की रिपोर्ट
सिरोंज जनपद क्षेत्र की सीमा पर स्थित चुनिया खोह पंचायत में कांकरखेड़ी खुर्द, खामखेड़ा और कल्लूपुरा मजरा गांव शामिल है। कुल आबादी 1800 के आसपास है। अभी तक ये गांव संक्रमण से सुरक्षित है। इसकी मुख्य वजह लोगों का घरों के बीच दूरी काफी अधिक होना तो है ही पंचायत द्वारा किए प्रबंध भी है। सिर्फ सब्जी और दूध वालों को आने-जाने की छूट है। प्रधान प्रतिनिधि संजीव गुर्जर ने बताया कि 40 से 50 लोग राजस्थान में काम करने गए हैं। वापस लौट कर आने पर कोरोना के लक्षण मिलेंगे तो हम उन्हें पंचायत भवन के आइसोलेशन सेंटर में रखेंगे।

संक्रमण रोकने चला रहे अभियान

  • गांवों में संक्रमण रोकने किल कोरोना टू अभियान चला रहे हैं। टीम बीमार मरीजों को तलाश कर इलाज कराया जा रहा है। अभियान 1 मई से शुरू हुआ है जो 10 मई तक चलेगा। - डॉ केएस अहिरवार, सीएमएचओ विदिशा।

577 पंचायतों में बनाए आइसोलेशन सेंटर

  • जिले की 577 ग्राम पंचायतों में आइसोलेशन सेंटर बनाए गए हैं। जिले के 300 गांव में कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। वहीं किल कोरोना अभियान के तहत 200 टीमें सर्वे कर रही हैं। - नीतू माथुर, सीईओ, जिला पंचायत विदिशा।

मुलाकात ही नहीं करते एक भी पॉजिटिव नहीं

ग्यारसपुर से आदेश जैन
ग्यारसपुर जनपद पंचायत के ग्राम खिरिया जागीर ऐसा गांव है जहां अभी तक कोरोना पॉजिटिव एक भी मरीज नहीं है। इस संबंध में गांव सालिगराम शर्मा ने बताया कि सबसे पहला मुख्य कारण तो हमारे गांव में बाहरी लोगों का आना जाना बंद है। एक दूसरे से मिलना जुलना बंद कर दिया एवं सभी लोग माक्स लगा रहते हैं। साथ ही सैनिटाइजर का उपयोग कर रहे हैं।

संक्रमण को रोकने खेत में ही 5 है आइसोलेट
सीताराम बाघेला की रिपोर्ट

आनंदपुर के लटेरी ब्लॉक के करीब 25 गांवों में 50 से अधिक एक्टिव केस है। लटेरी के जावती गांव में 5 संक्रमित मरीज अपने-अपने खेतों पर आइसोलेट हैं। परिवार के लोग उनको वहीं भोजन पहुंचा रहे हैं ताकि गांव में संक्रमण न फैल सके। वहीं आनंदपुर में भी संक्रमण को रोकने के लिए लोगों द्वारा दूसरों को जागरूक करने का काम जोरों पर जारी है। मास्क और सैनिटाइज का उपयोग लोग कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें