पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

10 जुलाई को शनिश्चरी अमावस्या, 25 से शुरू हाेगा सावन:मंदिरों में अनुष्ठान की अनुमति नहीं होने से घर में ही करनी होगी देवी की आराधना

विदिशा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुप्त नवरात्रि 11 से 18 जुलाई तक रहेगी, 18 को भड़ली नवमी मनाई जाएगी

11 जुलाई से शुरू हो रही गुप्त नवरात्रि में तंत्र साधक देवी मंदिरों में साधना नहीं कर पाएंगे। कोरोना संक्रमण की गाइड लाइन में मंदिरों में किसी तरह के अनुष्ठान आदि की अनुमति नहीं है, इसलिए साधकों को घर पर ही देवी की आराधना करनी होगी।

पंडित राजदीप शर्मा के अनुसार यह गुप्त नवरात्रि में एक तिथि क्षय होने से 8 दिन ही साधना के लिए मिलेंगे, लेकिन इस दौरान 6 रवि योग और 1 सर्वार्थ सिद्धि योग होने से साधना का विशिष्ट फल मिलेगा, इसलिए साधक इस गुप्त नवरात्रि में घर पर ही साधना कर सिद्धि प्राप्त कर सकते हैं।

नवरात्रि 11 से 18 जुलाई तक रहेगी। 18 को भड़ली नवमी रहेगी। यह अबूझ मुहूर्त होने से इस दिन सभी तरह के शुभ कार्य किए जा सकेंगे। वहीं 10 जुलाई को शनिश्चरी अमावस्या होगी। 25 जुलाई से श्रावण शुरू होगा।

खरीदारी करने के लिए रवि योग शुभ
खरीदारी के लिए, अनुष्ठान, पूजन, सिद्धि, साधना के लिए रवि योग अत्यंत महत्वपूर्ण योगों में से एक है। रवि योग को सूर्य की शक्ति प्राप्त है। यह अधिष्ठात्री योग माना जाता है। इस योग में जो भी कार्य किया जाता है वह निष्फल नहीं होता है। उस कार्य में सूर्य के समान ऊर्जा आ जाती हैं। बहुत ही कम ऐसे अवसर आते हैं जब इतनी संख्या में रवि योग एक साथ में आए हैं।

20 को देवशयनी एकादशी से शुभ काम बंद
20 जुलाई को देवशयनी एकादशी है। इस दिन से देवउठनी एकादशी तक सभी शुभ काम बंद हो जाएंगे। केवल नित्य नैमित्तिक कार्य होंगे। इस दौरान खरीदारी पर रोक नहीं रहेगी। इस दिन से चातुर्मास भी शुरू होगा।
मान्यता के अनुसार इस दिन से भगवान विष्णु शयन करेंगे तथा शिव सृष्टि की देखभाल करेंगे। 24 जुलाई को गुरुपूर्णिमा होगी। इस दिन गुरु पूजन की परंपरा है। सांदीपनि आश्रम में उत्सव होता है।

खबरें और भी हैं...