पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तेवर बदलता मौसम:कोहरा छाने से रात का पारा 70 तक गिरेगा

विदिशाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उत्तर पूर्व में बने चक्रवात से ठंड फिर लौटी,रात का पारा 9.5 डिग्री

उत्तर पूर्व में बने चक्रवात के कारण विदिशा जिले में ठंड एक बार फिर लौट आई है। इसके चलते रात का पारा 9.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जबकि अगले चौबीस घंटों में इसमें और गिरावट होगी। न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस से नीचे तक आ सकता है। अगले दो दिन जिले में इसी तरह मौसम में ठंड बनी रहेगी।

कई इलाकों में बाारिश का दिख रहा असर: सीहोर कृषि कॉलेज के मौसम वैज्ञानिक डॉ एसएस तोमर ने बताया कि उत्तर पूर्व में चक्रवात और कई इलाकों में बारिश का असर यहां के मौसम पर पड़ रहा है। अगले चौबीस घंटों में कई इलाकों में घना कोहरा भी रह सकता है। इससे पहले शुक्रवार को रात का पारा 12.5 डिग्री था। वहीं दिन का पारा 24 डिग्री दर्ज किया गया। एक दिन पहले शुक्रवार को दिन का पारा 25 डिग्री दर्ज हुआ था। मौसम विभाग ने रविवार को भी घना कोहरा होने की संभावना जताई है। रात का पारा 7 डिग्री तक आने की संभावना जताई है।

घने कोहरे से दृश्यता 50 मी. रही
रात के पारे में गिरावट के साथ ही सुबह घना कोहरा रहा। इससे दृश्यता 50 मीटर तक रह गई। रात का तापमान करीब 3 डिग्री गिरकर 9.5 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह सामान्य से करीब 2 डिग्री कम रहा।

आगे क्या... 8 फरवरी के बाद राहत रहेगी
डॉ एसएस तोमर ने ने बताया कि वर्तमान में पश्चिमी विक्षोभ मध्य और ऊपरी क्षोभमंडल की पछुवा पवनों के बीच एक ट्रफ के रूप में उत्तर में स्थित है। अन्य चक्रवातीय गतिविधियां उत्तरी छत्तीसगढ़ के ऊपर सक्रिय है। साथ ही अन्य चक्रवातीय गतिविधियां दक्षिणी असम के ऊपर तथा श्रीलंका तट से विषुवतीय हिंद महासागर क्षेत्रों तक पूर्वी हवाओं के बीच एक ट्रफ लाइन गुजर रही है। 8 फरवरी से ठंड से थोड़ी राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें