पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का कहर:मुखिया की संक्रमण से मौत, अब घर चलाने की चिंता में परिवार

विदिशा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी से कई परिवारों ने घर के मुखिया ,बेटा, पत्नी,भाई को इलाज के दौरान खो दिया है। इससे कई बच्चे अनाथ हो गए तो कई के सिर से पिता का साया चला गया। ऐसे ही एक परिवार की बात करें है जो विदिशा जिले के शमशाबाद का है।

इस परिवार के मुखिया कमल बाबू पटवा पशु अस्पताल बरखेड़ा जागीर में भृत्य के पद पर पदस्थ थे। उनकी अचानक कोरोना से मौत हो गई। परिवार में पत्नी सहित 4 बेटी और 1 बेटा है। परिवार को चलाने वाला एक बेटा है जो अभी इस लायक नहीं है। इससे विधवा पत्नी के सामने परिवार चलाने का संकट है।

परिवार के सदस्यों ने बताया कि हमारे पिता पशु अस्पताल में भृत्य का काम करते थे। अब पिता के आकस्मिक चले जाने से परिवार पर एक साथ परेशानी आ गई जिससे अब हमारे भरण पोषण की दिक्कत हो गई है।

अनुकम्पा नियुक्ति देंगे
हमने विभाग की तरफ से उनको दो किस्त में राशि दे दी है। बाकी जल्द करा देंगे व विभाग द्वारा उनके पुत्र को अनुकम्पा नियुक्ति के लिए कार्रवाई शुरू हो गई है।-ओपी गौर, जिला पशु चिकित्सा अधिकारी विदिशा।

खबरें और भी हैं...