• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Vidisha
  • In Return For Raising The KCC Limit, The Bank Manager Asked For Rs 18000, Caught Red Handed In The Lokayukta Raid

लोकायुक्त में की थी शिकायत:केसीसी लिमिट बढ़ाने के बदले में बैंक प्रबंधक ने मांगे 18000 रु., लोकायुक्त के छापे में रंगे हाथ पकड़े गए

विदिशा2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

केतौघान निवासी दो किसान भाइयों की किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने के लिए 18000 हजार रुपए रिश्वत मांगने वाले बैंक प्रबंधक पर लोकायुक्त पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मप्र ग्रामीण बैंक सिलारी खुर्द के प्रबंधक अंकित मिश्रा ने दाेनाें किसानाें से रिश्वत की राशि अपने ड्राइवर को देने के लिए कहा था। शिकायत पर लोकायुक्त की टीम दोपहर 2.30 बजे सिलारी गांव पहुंची। बैंक प्रबंधक मिश्रा के ड्राइवर हेमंत धाकड़ ने बैंक से बाहर आकर किसान छोटेराम लोधी से 18000 रुपए लेकर अपनी जेब में रख लिए। रिश्वत की राशि लेकर ड्राइवर हेमंत बैंक प्रबंधक अंकित मिश्रा पास पहुंच गया। लोकायुक्त भोपाल के डीएसपी संजय जैन ने बताया कि जब ड्राइवर हेमंत धाकड़ के हाथ धुलवाए गए तो गुलाब रंग हो गया। वहीं हेमंत ने बताया कि अंकित मिश्रा ने ही उससे पैसे लेने के लिए कहा था। इसको लेकर आराेपी शाखा प्रबंधक पुत्र सुभाष मिश्रा 27 वर्ष हाल निवासी उदयपुरा स्थाई निवासी लश्कर ग्वालियर पर भ्रष्टाचर निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। ड्रायवर हेमंत धाकड़ निवासी ग्राम कोश बरेली, उदयपुरा को सह आरोपी बनाया गया है। यह कार्रवाई दोपहर 3 बजे से लेकर रात 8 बजे तक चलती रही। इसमें एसआई नीलम पटवा सहित 10 पुलिस कर्मचारी शामिल रहे।

यह है मामला
छोटे राम लोधी पुत्र शुम्मा लाल लोधी निवासी केतौघान वर्तमान निवासी आनंद नगर भोपाल ने 27 अक्टूबर को लोकायुक्त कार्यालय में एसपी से मामले की शिकायत की थी कि उसकी और भाई खेमचंद की 4-4 एकड़ मिलाकर कुल 8 एकड़ कृषि भूमि हैं। क्रेडिट कार्ड के लिए मप्र ग्रामीण बैंक शाखा सिलारी खुर्द रायसेन में आवेदन किया था। कुल 3,58,000 के ऋण स्वीकृत के एवज में 18,000 की मांग की थी।

खबरें और भी हैं...