पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ऐसे रुकेगा संक्रमण:सिरोंज निवासी महिला की कोविड जांच में लेटलतीफी, 5 दिन तक नहीं आई रिपोर्ट

विदिशा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुखार पीड़िता ने 3 अप्रैल को दिया सैंपल, 7 को हेल्प लाइन पर शिकायत की तब पता चला पॉजिटिव है

जिले में कोरोना संक्रमण से हालात बेहद बदतर हैं। गुरुवार को जिले में 52 मरीज संक्रमित मिले हैं। इन संक्रमितों में सबसे ज्यादा 40 मरीज विदिशा शहर के हैं।इसके बावजूद कोरोना पीड़ितों की जांच और इलाज के मामले स्वास्थ्य विभाग गंभीर नहीं है। जिले की दूरस्थ तहसीलों से जिला मुख्यालय पर भेजे जाने वाले सैंपलों की जांच में लेटलतीफी से पीड़ितों का समय पर इलाज शुरू हो पा रहा है। ऐसा ही एक मामला सिरोंज निवासी एक महिला का सामने आया है। गले में दर्द और बुखार से पीड़ित सिरोंज निवासी महिला की सैंपलिंग 3 अप्रैल को सिरोंज सिविल अस्पताल में हुई थी। सिरोंज से सैंपल आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए विदिशा भेजा गया था।
इस सैंपल की जांच रिपोर्ट 7
अप्रैल की शाम को परिजनों को मिली। जांच रिपोर्ट लेने के लिए महिला के परिजनों को कई जतन करना पड़े।

चाचा ससुर ने बताई आपबीती

जांच रिपोर्ट के लिए काटे चक्कर एसडीएम-बीएमओ को लगाए फोन
सिरोंज निवासी कोरोना पीड़ित महिला के चाचा ससुर (नाम नहीं बताया) ने बताया कि उनके भतीजे की पत्नी को एक अप्रैल से गले में दर्ज और बुखार की शिकायत हुई थी। 3 अप्रैल को निजी क्लीनिक पर दिखाने के बाद बहू की कोरोना जांच के लिए सिरोंज अस्पताल में सैंपल दिया। बहू को घर में एक अलग कमरे में क्वारेंटाइन कर दिया था। दो दिन तक तो रिपोर्ट का इंतजार किया। लेकिन जब तीसरे दिन भी रिपोर्ट नहीं आई तो।

चार अप्रैल से जांच रिपोर्ट का पता लगाने के लिए अस्पताल के चक्कर काटना शुरू कर दिए। उन्होंने बताया कि जांच रिपोर्ट सबमिट होने का मैसेज मोबाइल पर चार अप्रैल को आया था। अस्पताल के कई चक्कर काटने पर भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। बीएमओ और एसडीएम तक को फोन लगाकर जानकारी दी गई। तब भी कुछ नहीं हुआ। सारे प्रयास करने के बावजूद जब जांच रिपोर्ट का कहीं कुछ पता नहीं चला तो 7 अप्रैल की दोपहर में कोविड हेल्प लाइन नंबर-1055 पर फोन लगाकर शिकायत दर्ज कराई। तब जाकर पता चला कि बहू की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव है।

54 पाॅजिटिव मिले, 424 एक्टिव केस
जिले में पिछले तीन दिन संक्रमण से 50 अधिक लोग पॉजिटिव मिल रहे हैं। गुरुवार को जिले में 54 मरीज संक्रमित मिले हैं। इन संक्रमितों में सबसे ज्यादा 38 मरीज विदिशा शहर के हैं। जबकि ग्यारसपुर में 3, सिरोंज में 7, बासौदा में 1 और कुरवाई में 1 मरीज कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। जिले में कोरोना से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 4469 हो गई है। इनमें से 3972 स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि एक्टिव केस बढ़कर 424 हो गए हैं। इनमें से 343 होम क्वारेंटाइन में हैं। दो मरीज भोपाल में भर्ती हैं। इसके अलावा 79 मेडिकल कॉलेज में आईसीयू में भर्ती हैं।

कोविड मरीजों के लिए 430 बिस्तरों की व्यवस्था
जिले में जिस तेजी से कोरोना संक्रमण फैल रहा है उसके तहत मौजूदा समय में जहां मेडिकल कॉलेज में 310 बिस्तरों की कोविड मरीजों के लिए व्यवस्था की गई है, वहीं 120 बिस्तरों की व्यवस्था जिला चिकित्सालय में की गई है। इसके अलावा और बिस्तर बढ़ाने की तैयारी की जा रही है। मेडिकल कॉलेज में 750 बिस्तरों की क्षमता है। इस लिहाज से कोविड मरीजों के इलाज में बिस्तरों की कमी की स्थिति जिले में नहीं है।
अभी 12 हजार लीटर ऑक्सीजन का स्टॉक
कोविड के गंभीर मरीजों के लिए ऑक्सीजन की फिलहाल कमी नहीं है। शासकीय मेडिकल कॉलेज सहित जिला अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की उपलब्धता के दावे हैं। सीएमएचओ डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में स्थापित 10 हजार लीटर का ऑक्सीजन टैंक जहां फुल है, वहीं एक हजार लीटर वाला टैंक से ऑक्सीजन सप्लाई सुचारू है। जिला अस्पताल में स्थापित दो हजार लीटर का टैंक भी फुल है।
जिले में नहीं है एक भी रेमडेसिविर इंजेक्शन
गंभीर मरीजों के इलाज में उपयोग किए जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन का जिले में टोटा है। गुरुवार की स्थिति में जिले में इनकी उपलब्धता शून्य थी। प्राइवेट स्तर पर मेडिकल स्टोर संचालकों के पास मरीजों के परिजन इंजेक्शन लेने के लिए चक्कर काट रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक व भोपाल और इंदौर में भी रेमडेसिविर की उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। जल्द ही मिलने की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें