पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिम्मेदार लापता:डेढ़ साल से छलनी पांच किमी सड़क एमपीआरडीसी सुधारेगा

विदिशा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विवेकानंद चौराहे से लेकर ढोलखेड़ी चौराहे के बीच सड़क का नहीं हो रहा मेंटेनेंस। - Dainik Bhaskar
विवेकानंद चौराहे से लेकर ढोलखेड़ी चौराहे के बीच सड़क का नहीं हो रहा मेंटेनेंस।
  • विवेकानंद ईदगाह चौराहे से लेकर ढोलखेड़ी चौराहे तक की सड़क के मेंटेनेंस का मुद्दा दिशा में उठा

विदिशा शहर को पूरे जिले से मुख्य रूप से जोड़ने वाली सड़क के जिम्मेदार लापता थे। दरअसल विवेकानंद ईदगाह चौराहे से लेकर ढोलखेड़ी चौराहे तक की सड़क का मेंटेनेंस करने वाले जिम्मेदार का पता अफसरों को भी पता नहीं चल रहा था लेकिन दिशा की बैठक में मसला उठा तो जिम्मेदार सामने आ गए। इससे पहले कोई भी इस सड़क की जिम्मेदारी लेने तैयार नहीं था। हाल ये था कि कलेक्टर डॉ पंकज जैन ही कई बार संबंधित अफसरों से सड़क की मरम्मत की बात

कह चुके थे, लेकिन सभी अधिकारी ये कहते रहे कि ये सड़क हमारे हवाले नहीं है।

भाजपा नेता और पूर्व नपाध्यक्ष मुकेश टंडन ने दो सांसदों की मौजूदगी में मामला उठाया तो एमपीआरडीसी के अधिकारी सामने आ गए और बोले कि इस सड़क की मरम्मत करने हम तैयार हैं। इससे पहले कोई सामने नहीं आ रहा था।

जबकि यह सड़क विदिशा शहर को जिले की 8 तहसीलों से मैं अकेली ऐसी है, जो मुख्य रूप से जुड़ती है। विदिशा-अशोकनगर रोड के माध्यम से ही मैं बैरसिया, गंजबासौदा, सिरोंज, लटेरी, कुरवाई, नटेरन, शमशाबाद और त्योंदा तक लोगों को पहुंचाती है। साथ ही विदिशा शहर की की मुख्य सड़क भी है।

सड़क की पाती

मेरे गड्‌ढों पर मरहम लगाने वाले मिले
डेढ़ साल से ज्यादा का समय... काफी लंबा होता है। लेकिन मुझे (सड़क) जब बनाया गया था तो खुश थी कि लोगों के काम आऊंगी... लेकिन अब मेरे ऊपर गड्‌ढों और मेरी सतह इतनी खराब हो गई है कि...डर लगता है कोई अनहोनी न हो जाए। लेकिन इसकी जिम्मेदार मैं नहीं। मेरा ध्यान रखने वाले वो अधिकारी है जो मुझे आज अपना नहीं समझते... डेढ़ साल से गुमनाम की तरह मैं छलनी हो रही हूं। पिछले डेढ़ साल से विवेकानंद चौराहे से ढोलखेड़ी के बीच 5 किमी की मरम्मत नहीं हो रही हैं।
उम्मीद... मैं खुश हूं कि मुझे दिशा की बैठक में मेरे जिम्मेदार अफसर मिल गए। मैं पहले एमपीआरडीसी के अधीन थी लेकिन साल 2020 से मुझे नेशनल हाइवे के हवाले कर दिया। अब मेरे गड्‌ढों पर मरहम लगाने वाले जिम्मेदार मिल गए हैं।

...इसलिए कोई नहीं कर रहा था मेंटेनेंस

ढोलखेड़ी से अशोकनगर रोड कुरवाई तक करीब 76 किमी की सड़क पहले एमपीआरडीसी के हवाले थी। 23 जुलाई 2020 को यह सड़क नेशनल हाइवे के हवाले कर दी गई। इसका नोटिफिकेशन 2018 में हुआ था। यह सड़क जब एनएच के हवाले हो गई तो एमपीआरडीसी के अधिकारी इससे पीछे हट गए, लेकिन विवेकानंद चौराहे से लेकर ढोलखेड़ी के बीच करीब 5 किमी सड़क के मेंटेनेंस की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली। इसलिए मरम्मत कोई नहीं कर रहा था।

सड़क का उठा मुद्दा जो जिम्मेदार मिले

सोमवार को दिशा की बैठक में पूर्व नपाध्यक्ष मुकेश टंडन ने विवेकानंद चौराहे से लेकर ढोलखेड़ी के बीच की सड़क का मुद्दा उठाया। उन्होंने विदिशा सांसद रमाकांत भार्गव और सागर सांसद राजबहादुरसिंह के सामने यह बात कही। इसके बाद कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने भी कि इस सड़क की जिम्मेदारी कोई नहीं ले रहा है। तब विवेकानंद तिराहे से लेकर ढोलखेड़ी तिराहे के बीच की सड़क का मेंटेनेंस करने के लिए एमपीआरडीसी के मैनेजर चंद्रमोहन बॉठियाल तैयार हो गए।

23 जुलाई 2020 को सड़क नेशनल हाइवे के हवाले कर दी थी

ढोलखेड़ी रोड एनएच के हवाले कर चुके
^जुलाई 2020 से ढोलखेड़ी रोड एनएच के हवाले हो गया है। पहले यह रोड एमपीआरडीसी के अधीन था। गजट नोटिफिकेशन में विवेकानंद चौराहे से ढोलखेड़ी रोड का कुछ क्लियर नहीं है। इसलिए लगातार पत्राचार कर रहे हैं। अभी एक सप्ताह में विवेकानंद चौराहे से ढोलखेड़ी के बीच मेंटेनेंस शुरू कर देंगे।
-चंद्रमोहन बांठियाल, मैनेजर,एमपीआरडीसी ।

एमपीआरडीसी के अिधकारी पीछे हटे और 5 किमी सड़क गुमनाम हो गई

इंटर कनेक्टिविटी के लिए प्रस्ताव भेजा है
^अग्रवाल एकेडमी से विवेकानंद चौराहे और यहां से ढोलखेड़ी चौराहे तक मसला कुछ टेक्नीकल है। ढोलखेड़ी रोड पहले एमपीआरडीसी के हवाले था। इसलिए इसके मेंटेनेंस की दिक्कत आ रही थी। हम लोग अग्रवाल एकेडमी से लेकर ढोलखेड़ी चौराहे तक इंटर कनेक्टिवटी के लिए एनएच को प्रपोजल भेज रहे हैं।
-डॉ. पंकज जैन, कलेक्टर, विदिशा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें