पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुमनाम संपदाएं:बूधे की पहाड़ी पर मिली कई सुरक्षित रॉक पेंटिंग

विदिशा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अचानक दौरे पर पहुंचे जिला संग्रहालय के प्रभारी अधीक्षक ने देखा शैलाश्रय

जिले में आज भी जानकारी के अभाव में कई जगहों पर पुरातत्व संपदाएं गुमनामी के हाल में हैं। नटेरन तहसील की ऐसी ही एक जगह है बूधे की पहाड़ी। धार्मिक स्थल के तौर पर बूधे की पहाड़ी काफी प्रसिद्ध है। लेकिन इस पहाड़ी पर आदिम युग की पुरातत्व धरोहर भी हैं। इसकी जानकारी शनिवार को पुरातत्व विभाग के अधिकारी को अचानक हुए दौरे में पता लगी। विदिशा शहर के जिला पुरातत्व संग्रहालय के अधीक्षक डॉ अली एक कार्य से शनिवार को नटेरन क्षेत्र की बूधे की पहाड़ी पर पहुंचे। यहां पर उन्हें हजारों साल प्राचीन शैलाश्रय दिखाई दिया। इस शैलाश्रय में बने शैलचित्रों (रॉक पेंटिंग) की तस्वीरों को उन्होंने अपने कैमरे में कैद भी किया। जबकि यह शैलाश्रय स्थानीय लोगों के लिए महज एक सामान्य गुफा मात्र है। धार्मिक स्थल बूधे की पहाड़ी पर स्थित ये शैलचित्र के महत्व से ज्यादातर स्थानीय लोग अनजान हैं। लेकिन अब पुरातत्व विभाग की जानकारी में आने के बाद इस शैलाश्रय के संरक्षण की उम्मीद दिखाई दे रही है। जाफरखेड़ी, निमखिरया और धनोरा पठारी हवेली में भी शैलाश्रय स्थित हैं। इनमें भी हजारों साल प्राचीन शैलचित्र पाए गए हैं। हालाकि इनमें से कई शैलाश्रय देखरेख के अभाव में क्षतिग्रस्त हो रहे हैं।

शैलाश्रय के संरक्षण के प्रयास किए जाएंगे
^यहां पर पाए गए आदिम युग के शैलचित्र काफी प्राचीन हैं। संभवत:10 हजार साल से भी ज्यादा प्राचीन शैलचित्र होने का अनुमान है। इनमें से कई शैलचित्र पूरी तरह स्पष्ट हैं। जबकि कुछ शैलचित्र मानवीय गतिविधियों के चलते क्षतिग्रस्त हो गए हैं। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी जानकारी देकर शैलाश्रय के संरक्षण के प्रयास किए जाएंगे।
अहमद अली, जिला संग्रहालय के प्रभारी अधीक्षक।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें