पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वायु परीक्षण:सूर्यास्त के समय बारिश के बीच तेज गति से चली पूर्व की हवा इसलिए बारिश अच्छी होने के संकेत, कोरोना का असर कम होगा

विदिशाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

गुरु पूर्णिमा पर लोहांगी पहाड़ी (राजेंद्र गिरि) पर ज्योतिष विद्वान और धर्माधिकारी ने वायु परीक्षण कर आगामी मौसम अच्छा रहने का अनुमान जताया है। धर्माधिकारी गिरधर गोविंद प्रसाद शास्त्री ने वाराह मिहिर पद्धति से रविवार शाम को सूर्यास्त के समय वायु परीक्षण किया।  इस दौरान बारिश के साथ ही वायु पूर्व दिशा की ओर से तेज गति से प्रवाहित हो रही थी। आचार्य वाराह मिहिर की वाराही संहिता के अनुसार इस दिन विशेष को संध्या के समय पूर्व दिशा की ओर वायु प्रवाहित होना इस बार अच्छी वृष्टि एवं अच्छे फसल उत्पादन का संकेत दे रही है। धर्माधिकारी गिरधर शास्त्री का कहना है कि आषाढ़ शुक्ल गुरुपूर्णिमा पर सूर्यास्त के समय बारिश और पूर्व की ओर हवा का प्रवाह बताता है कि इस साल अच्छी बारिश होगी। सुख और समृद्धि होगी। साथ ही महामारियों पर रोक लगेगी। अब कोरोना महामारी का असर धीरे-धीरे कम होता जाएगा। क्षेत्र में खुशहाली के संकेत हैं और अन्न की पैदावार सालभर अच्छी होगी। 

ऐसे किया जाता है वायु परीक्षण.. एक पतली छड़ी में एक सिरे पर धोग के सहारे रुई का टुकड़ा बांधकर हवा का प्रवाह देखते है, फिर भविष्यफल की घोषणा होती है
वायु परीक्षण के लिए एक पतली छड़ी में एक सिरे पर धागे के सहारे रुई का टुकड़ा बांध कर हवा का प्रवाह देखा जाता है। इससे हवा की दिशा के प्रभाव के आधार पर भविष्यफल की घोषणा की गई। धर्माधिकारी ने वर्षा योग प्रारंभ को लेकर किसानों से संकीर्तन, अखंड श्रीरामचरितमानस एवं सुंदरकांड पाठ सहित शिव आराधना करने की अपील भी की।

न लगा मेला, न हुआ दंगल
गुरुपूर्णिमा पर 100 साल से ज्यादा समय से लोहांगी पहाड़ी पर मेला लगता आ रहा है। इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से मेला नहीं लगा। हर साल होने वाले दंगल का आयोजन भी नहीं हुआ। श्री महाकाल छाल दिवाली अखाड़ा के उस्ताद खेमचंद अहिरवार का कहना था कि संक्रमण की वजह से अखाड़े की पूजन की गई लेकिन दंगल नहीं हुआ।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement