पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बालिका वधु:तीन जगह 11 साल, एक जगह 12 साल की नाबालिग का विवाह रुकवाया

विदिशा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चाइल्ड लाइन, महिला एवं बाल विकास विभाग और पुलिस टीम ने की संयुक्त कार्रवाई

लटेरी क्षेत्र में चाइल्ड लाइन एवं प्रशासन की टीम ने एक या दो नहीं बल्कि चार बाल विवाह रोकने की बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। अलग-अलग सूचनाओं पर मौके पर पहुंची टीम ने समय रहते ये बाल विवाह रुकवा दिए। हद तो यह है कि कानून को ताक पर रखकर परिजन महज 11 से 12 साल की बेिटयों की शादी करने जा रहे थे। यही नहीं तीन मामलों में तो दूल्हे की उम्र भी विवाह के योग्य नहीं थी। जबकि इसके बाद भी परिजन शादी कराने की जिद पर अड़े थे।

केस - 1
राजगढ़ से परिजन अपनी 11 साल की बेटी की शादी कराने आए
राजगढ़ के परिजन बेटी को लेकर खेरखेड़ी तहसील लटेरी निवासी तंवर परिवार में शादी करने आए थे। जांच टीम ने दूल्हा-दुल्हन की उम्र संबंधी दस्तावेजों की जांच पड़ताल की। बाल संरक्षण अधिकारी अनुज जैन ने बताया कि वधु की उम्र अंकसूची में दर्ज 2.4.2010 के हिसाब से 11 साल पाई गई। जबकि दूल्हे की अंकसूची में उसकी जन्मतिथि 8 जुलाई 2006 दर्ज है। इसके बाद भी परिजन विवाह करने पर अड़े रहे, लेकिन कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी तब माने ।

केस - 2
23 का दूल्हा, अपने से आधी उम्र की लड़की से कर रहा था शादी
नया नगर क्षेत्र में बालिका की दो गुना से भी अधिक उम्र के युवक के साथ होने वाली शादी को भी रुकवाया। बाल विवाह की सूचना मिलने पर जांच टीम नया नगर लटेरी में ही बंजारा परिवार में होने वाले शादी समारोह की जांच पड़ताल करने पहुंची। इस दौरान जांच पड़ताल करने पर मालूम हुआ की दूल्हे की उम्र तो 23 वर्ष है, जबकि दुल्हन की उम्र अंकसूची से मिलान करने पर महज 11 वर्ष पाई गई। टीम ने मौके पर ही इस विवाह को रुकवा दिया।

केस - 3
दस्तावेजों की जांच में दूल्हा-दुल्हन दोनों मिले नाबालिग, दी हिदायत
थाना लटेरी के ग्राम नया नगर में एक किशोरी की शादी शालाखेड़ी थाना शमशाबाद के एक गांव के किशोर के साथ परिजनों ने तय कर दी। 6 मई को दोनों की शादी होनी थी, इस बीच किसी अज्ञात व्यक्ति की सूचना पर महिला बाल विकास से बाल संरक्षण अधिकारी अनुज जैन, चाइल्ड लाइन टीम सदस्य बृजेश शर्मा और थाना लटेरी से टीआई पंकज गीते आदि ने दूल्हा एवं दुल्हन के घर पहुंच कर जांच पड़ताल की। दस्तावेज से अंकसूची मिलाने पर दोनों बालक-बालिका नाबालिग पाए गए।

केस - 4
लग चुकी थी हल्दी और भी कई रस्में हो चुकी थीं, वक्त पर रुकवाई
नया नगर में रहने वाली बंजारा परिवार के घर में शादी की रस्में चल रही थीं। माता पूजन के बाद दुल्हन को हल्दी लग चुकी थी। इस बीच चाइल्ड लाइन और बाल संरक्षक अधिकारी अमले के साथ वधु के घर आ धमके। दुल्हन की उम्र जब परिजनों से पूछी तो उन्होंने उम्र बताने से मना कर दिया लेकिन टीम ने अंकसूची से वधु की उम्र पता कर ली, जिसमें वधु की उम्र 12 वर्ष निकली। आधार कार्ड और अंकसूची सामने आने पर दुल्हे की उम्र भी 19 वर्ष निकली।

खबरें और भी हैं...