पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत का मई:अप्रैल के अंतिम 10 दिनों में संक्रमण दर 29.91 %, मई के 7 दिनों में 11 % कम

विदिशा2 महीने पहलेलेखक: अनुराग शर्मा
  • कॉपी लिंक
  • 11 से 20 अप्रैल में 8036 सैंपल में 2095 संक्रमित मिले, मई के 7 दिनों में 1325

जिले में मार्च से कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का कहर शुरू हुआ है। कोरोना ने मार्च के अंत से अभी तक हाहाकार जैसे हालात बनाए हुए हैं। फिलहाल मई के पहले सप्ताह में इसकी तीव्रता काफी है। मई में संक्रमण की दर 18.91 फीसदी पर आ गई है, जो कि अप्रैल के अंतिम सप्ताह में लगभग 30 फीसदी रही थी। करीब 11 फीसदी की यह गिरावट जिलेवासियों सहित प्रशासन के लिए कुछ हद तक राहत देने वाली है। जिले में रोजाना मिलने वाले संक्रमित मरीजों की संख्या भी पिछले 6 दिनों से 200 के नीचे बनी हुई है। कोरोना की पहली लहर में जिले में एक मार्च 2020 से मार्च 2021 तक कुल 4079 संक्रमित मरीज मिले थे। इस दौरान संक्रमण की दर महज 3.9 फीसदी दर्ज की गई थी।

कोरोना काल की पहली लहर का असर इतना घातक नहीं था, जितना की इस दूसरी लहर का है। हालांकि संक्रमण का मौजूदा यह दौर भी जहां काफी डरावना है, वहीं इस जानलेवा संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को आने वाले कई दिनों तक हर पल अलर्ट रहना होगा।

24 घंटे में 1330 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में 169 संक्रमित मिले
जिले में शुक्रवार को कुल 169 मरीज कोरोना से संक्रमित मिले हैं। मरीजों की यह संख्या 1330 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में पाई गई है। इनमें सबसे अधिक 85 मरीज विदिशा में मिले हैं। जबकि बासौदा में 37, ग्यारसपुर में 13, सिरोंज में 13, लटेरी में 8, कुरवाई में 7, नटेरन में कुल 6 मरीज मिले हैं।

जिले में कोरोना से अब तक 10421 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 9088 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। शुक्रवार की स्थिति में कुल 1192 एक्टिव केस थे। इनमें 903 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। शुक्रवार को ही 119 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। इनमें 67 मरीज होम आईसालेशन से डिस्चार्ज हुए हैं।

अप्रैल में मिले थे 5019 संक्रमित मई में इनकी संख्या में गिरावट
जिले में कोरोना संक्रमण का अप्रैल माह में बेकाबू रहा है। अप्रैल में कुल 23109 सैंपल लिए गए थे। इनमें से 5019 संक्रमित मरीज जिले में मिले थे। अप्रैल के पूरे महीने में कोरोना संक्रमण की दर 21.9 फीसदी से भी ज्यादा रही है। अप्रैल में रही संक्रमण की यह दर जिले में महामारी की भयावह स्थिति को उजागर रही है। यदि मई की बात करें तो अभी तक के 7 दिनों में कुल 1325 मरीज ही नए सामने आए हैं। जबकि इन सात दिनों में 7 हजार से ज्यादा सैंपलों की जांच रिपोर्ट आई हैं। मई में अप्रैल की तुलना में मरीजों की संख्या काफी कम हुई है।

अप्रैल के अंतिम 10 दिन में सबसे अधिक 29.91 % रही संक्रमण दर
जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का अभी तक का सबसे खतरनाक स्तर अप्रैल के अंतिम 10 दिनों में देखने को मिला है। जिले में 21 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सबसे ज्यादा 2387 मरीज कोरोना से संक्रमित मिले थे, जबकि कुल जांच रिपोर्ट 7979 सैंपलों की आई थीं। इस दौरान जिले में संक्रमण की दर 29.91 दर्ज की गई थी।

इसके अलावा अप्रैल के शुरुआती 10 दिनों में संक्रमण की दर महज 10.82 फीसदी रही थी। जबकि अप्रैल के माध्य में 11 अप्रैल से 20 अप्रैल तक कोरोना संक्रमण की दर ज्यादा रही थी। इस दौरान 26.07 फीसदी संक्रमण की दर दर्ज की गई थी।

खबरें और भी हैं...