फायदा:पानी खरीदने की तैयारी में थी नपा, लेकिन हलाली का ओवर फ्लो कालिदास बांध तक आया

विदिशाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब 45 दिनों तक पानी का कोटा पूरा
  • बैस नदी और हलाली डेम की नहरों के जरिए बेतवा तक पहुंचा पानी, 15 दिन पहले सूखा था कालिदास बांध

हलाली के ओवर फ्लो पानी से इस समय सूखी पड़ी बेतवा का कालिदास बांध लबालब हो गया है। इससे नगरपालिका के पास अब आगामी 45 दिनों तक के लिए शहर में पेयजल सप्लाई का स्टाक जमा हो गया है। सितंबर के बाद बेतवा नदी सूखने के कारण 15 दिनों पहले तक बेतवा का कालिदास बांध भी सूख गया था। केवल 10 दिनों का रिजर्व स्टाक ही बचा हुआ था। नगरपालिका प्रशासन जल संसाधन विभाग द्वारा संचालित सम्राट अशोक सागर परियोजना के हलाली डेम से कालिदास बांध में पानी मंगवाने की तैयारी कर ही रहा था कि हलाली डेम का ओवर फ्लो पानी बैस नदी और हलाली की सिंचाई वाली नहरों के माध्यम से 35 किमी दूर विदिशा में बेतवा के कालिदास बांध तक पहुंच गया है। इससे नगरपालिका प्रशासन की परेशान अब कम हो गई है। अब जनवरी के बाद ही नपा को फिर से हलाली डेम से पानी लेने की जरूरत पड़ेगी।

रोज 19 एमएलडी की शहर में सप्लाई
विदिशा शहर में बेतवा के कालिदास बांध से रोजाना 19 एमएलडी यानी 1 करोड़ 90 लाख लीटर पानी की सप्लाई होती है। डिस्ट्रीब्यूशन योजना के तहत नगरपालिका ने 26 एमएलडी की क्षमता का वाटर वर्क्स बनाया है। 28 करोड़ की लागत वाली इस डिस्ट्रीब्यूशन योजना के तहत शहर में 39 वार्डों में नई पेयजल पाइप लाइन बिछाई गई है। टीलाखेड़ी, मिर्जापुर और बैस नगर में तीनों नए वार्डों में नई पेयजल टंकी बनाने का प्रस्ताव भी नगरपालिका ने पास किया है लेकिन अभी तक उस पर अमल नहीं किया गया है।

खबरें और भी हैं...