पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

समस्या:एंबुलेंस 6 साल से खराब, जननी वाहन भी खटारा हो गया, मरीजों को आती है परेशानी

विजयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विजयपुर की 108 एंबुलेंस तीन महीने से थाने में खड़ी, मरीजों को रैफर करने सबलगढ़ से बुलाना पड़ रही

भले ही सरकार ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने का दावा कर रही है, लेकिन हकीकत में हालात बदल नहीं रहे हैं। विजयपुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आलम यह है कि सवा लाख की आबादी वाले क्षेत्र में ग्रामीणों को एंबुलेंस का फायदा नहीं मिल पा रहा है। हैरानी तो इस बात से है कि 6 साल में विजयपुर में एक नई एंबुलेंस तक नहीं पहुंच सकी है। एक मात्र 108 एंबुलेंस भी बीते तीन महीने से खराब है, जिससे मरीजों को रैफर करने के लिए सबलगढ़ से एंबुलेंस बुलाना पड़ रही है। इससे मरीज परेशान हो रहे हैं। विजयपुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से दुर्घटना और आकस्मिक बीमारी की वजह से हर माह औसतन 70 मरीज रैफर किए जाते हैं। रैफर मरीज इलाज के लिए 120 किमी दूर ग्वालियर व 110 किमी दूर मुरैना ले जाए जाते हैं। स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा विजयपुर को 6 साल पहले एक एंबुलेंस दी गई थी। इससे अस्पताल में गंभीर रोगियों को लाने ले जाने और रैफर मरीज को ग्वालियर, मुरैना पहुंचाने में परिजन को काफी सुविधा मिली थी, लेकिन 2014 में एंबुलेंस के इंजन में खराबी आ गई। तभी से इस एंबुलेंस को अस्पताल के गैरेज में खड़ा कर दिया गया है। हालात यह हैं कि एंबुलेंस सेवा के पहिए भी जाम हो गए। खराब एंबुलेंस को ठीक कराने के लिए विभागीय स्तर पर प्रस्ताव भेजने के साथ ही कई बार बैठकों में खराब एंबुलेंस ठीक कराने पर चर्चा की गई, लेकिन साढ़े 6 साल से ज्यादा समय बीतने के बावजूद अभी तक हालात जस के तस बने हुए हैं। एंबुलेंस गाड़ी गैरेज में खड़ी खड़ी कबाड़ हो गई है। प्राइवेट वाहनों के चालक वसूलते हैं मनमाना किराया स्वास्थ्य विभाग की उदासीनता के चलते गंभीर हालत में मरीजों को अस्पताल पहुंचाने के लिए किराए के वाहनों का सहारा लेना पड़ता है। वाहन मालिक फायदा उठाते हुए मनमाना किराया वसूलते हैं। विजयपुर से ग्वालियर 120 किमी है, लेकिन वाहन चालक दिन में चार से साढ़े चार हजार तथा रात में छह हजार किराया वसूलते हैं। लोगों का कहना है कि अफसरों की लेतलाली से विजयपुर क्षेत्र के मरीजों को एंबुलेंस की सेवा नहीं मिल पा रही है। यहां कई बार नई एंबुलेंस मंगाने के लिए ज्ञापन भी सौंपा जा चुका है।

जननी एक्सप्रेस भी खराब नहीं मिल पा रही सुविधा
विजयपुर में 108 जननी एक्सप्रेस की व्यवस्था की गई है। लेकिन जननी एक्सप्रेस भी दिन प्रतिदिन कबाड़ में बदलती जा रही है। हालात यह हैं कि आए दिन जननी एक्सप्रेस को सुधरवाने के लिए ग्वालियर और शिवपुरी भेजना पड़ता है। विजयपुर में एंबुलेंस सेवा के नाम पर एक 108 एंबुलेंस भी तीन महीनों से खराब है। इससे मरीजों को रैफर करने के लिए मुरैना क्षेत्र के रामपुरकलां और सबलगढ़ से 108 एंबुलेंस को बुलाना पड़ता है। वहीं कई बार वीरपुर से भी एंबुलेंस को बुलाकर मरीजों को रैफर किया जाता है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें