ओवरब्रिज निर्माण:संजय नगर ओवरब्रिज पर रेलवे ने डाली 2 गर्डर, 3 घंटे का ब्लाक लेकर कराया काम

नेपानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सात साल बाद ही सही शहर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को जल्द बड़ी राहत मिलने वाली है। लगभग 40 करोड़ रुपए की लागत से संजय नगर ओवरब्रिज जल्द तैयार होगा। इसका काम पिछले करीब 2 साल से पूरी तरह बंद पड़ा था। यहां रेलवे ने सोमवार से काम शुरू कराया है। मंगलवार को तीन घंटे का ब्लाक लेकर यहां 2 गर्डर डाली गई। अब अगला काम 1 दिसंबर को कराया जाएगा। बताया जा रहा है जनवरी 2023 तक यह ब्रिज आमजन के उपयोग में आने लगेगा।

लगभग 20 महीने बाद रेलवे निर्माणाधीन ओवरब्रिज का काम शुरू कर पाया है। मार्च 2021 में सेतु निगम ने यहां अपने हिस्से का काम पूरा कर दिया था। लेकिन रेलवे की ओर से गर्डर और स्लैब डालकर ब्रिज को एक से दूसरे छोर की ओर जोड़ने का काम बचा था। मंगलवार को यहां 2 गर्डर डाले गए। इसके लिए मंगलवार सुबह 9.30 से दोपहर 12.30 बजे तक ब्लाक लिया गया। गौरतलब है कि संजय नगर ओवरब्रिज का निर्माण पहले 34 करोड़ रुपए की लागत से शुरू शुरू हुआ था। बाद में करीब 6 करोड़ रूपए लागत बढ़ गई। लोक निर्माण विभाग की इकाई सेतु निगम ने अपने हिस्से का काम पूरा कर दिया था।

तत्कालीन विधायक राजेंद्र दादू ने कराई थी स्वीकृति
संजय नगर ओवरब्रिज की स्वीकृति 2015 में तत्कालीन विधायक स्व. राजेंद्र दादू ने कराई थी। हाल ही में सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल और विधायक सुमित्रा कास्डेकर ने भी इसको लेकर प्रयास किए थे। एक बार रेलमंत्री से दिल्ली जाकर मुलाकात भी की थी। रेलमंत्री ने कुछ दिन पहले ही ब्रिज के लिए केंद्र सरकार की ओर से बजट में प्रावधान कर सभी निर्माणाधीन ब्रिजों का काम पूरा कराने की बात कही थी। अब जाकर यहां काम शुरू हुआ है। नगर पालिका उपाध्यक्ष सरला प्रवीण काटकर की ओर से भी ब्रिज का काम शुरू कराने के लिए लोक निर्माण विभाग मंत्री को पत्र लिखा गया था। ब्रिज के निर्माण से आमजन को आवागमन में आसानी होगी। अभी मातापुर बाजार स्थित रेलवे गेट दिन में कईं बार खुलता और बंद होता है। ऐसे में यहां जाम की स्थिति बनती है। लोगों को संजय नगर पुलिया से होकर गुजरना पड़ता है। गेट बंद होने से आमजन का समय और पेट्रोल-डीजल भी ज्यादा खर्च होता है। ओवरब्रिज बनने के बाद इन सभी परेशानियों से निजात मिलेगी।

महाबली क्रेन से उठाई बड़ी गर्डर
सुबह 9.30 बजे 60-70 अफसर-कर्मचारियों की टीम इस काम में जुटी रही। संजय नगर के एक छोर से दूसरे छोर को रेलवे लाइन के ऊपर से जोड़ने के लिए महाबली क्रेन से 2 गर्डर डाली गई। 1 दिसंबर को भी गर्डर और स्लैब डालने का काम प्रस्तावित है। इसके बाद ब्रिज को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया चलेगी। आमजन द्वारा भी इस ब्रिज का काम पूरा कराने के लिए लंबे समय से मांग की जा रही थी। काफी दिनों से संजय नगर में लोहे की गर्डर लाकर तो रखी गई थी, लेकिन काम चालू नहीं हो पा रहा था। अब जाकर काम शुरू किया गया है।

खबरें और भी हैं...