यहां इंदिरा आई थीं तब भाजपा के कुशाभाऊ हारे थे:अब उसी बुरहानपुर में है राहुल गांधी की सभा

रईस सिद्दीकी (बुरहानपुर)3 महीने पहले

भारत जोड़ो यात्रा के साथ 23 नवंबर को कांग्रेस सांसद राहुल गांधी बुरहानपुर आएंगे। वे महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश को जोड़ने वाले गांव बोदरली से MP में एंट्री करेंगे। वे नेहरू-गांधी परिवार के चौथे शख्स हैं, जो बुरहानपुर आ रहे हैं। 41 साल पहले 1980 में इंदिरा गांधी बुरहानपुर आई थीं। तीन दिन यहां रुकी भी थीं। सबसे खास है कि जिस बोदरली गांव से यात्रा एमपी में एंट्री लेगी, उसी गांव में इंदिरा गांधी ने रात 2 बजे टॉर्च की रोशनी में चुनावी सभा को संबोधित किया था।

1980 में इंदिरा गांधी लोकसभा चुनाव के दौरान बुरहानपुर आई थीं। उन्होंने यहां पूर्व सांसद ठाकुर शिव कुमार सिंह के वोट मांगे थे। इंदिरा गांधी ने 3 दिन बुरहानपुर और नेपानगर में प्रचार किया। उन्हें देखने और सुनने हजारों लोग सड़कों पर खड़े थे। इस चुनाव में शिव कुमार सिंह ने भाजपा के वरिष्ठ नेता कुशाभाऊ ठाकरे को हराया था।

पहले जान लेते हैं, कौन-कब आया

खुली जीप में किया था गलियों में प्रचार
वरिष्ठ कांग्रेस नेता एसएम तारिक बताते हैं कि तब लोकसभा चुनाव के प्रत्याशी ठाकुर शिव कुमार सिंह के चुनाव के दौरान 3 दिन तक इंदिरा गांधी खुली जीप में शहर की गलियों में घूमी थीं। प्रचार के दौरान कई सभाओं को संबोधित किया था। उन्हें सुनने और उनकी एक झलक पाने के लिए बड़ी संख्या में लोग सड़कों, घरों की छतों पर मौजूद थे।

भारत जोड़ों यात्रा के स्वागत के लिए शहर में हर जगह बैनर-पोस्टर नजर आ रहे हैं। इन पर 1980 में इंदिरा गांधी के बुरहानपुर में की गईं चुनावी सभा के फोटो प्रिंट हैं।
भारत जोड़ों यात्रा के स्वागत के लिए शहर में हर जगह बैनर-पोस्टर नजर आ रहे हैं। इन पर 1980 में इंदिरा गांधी के बुरहानपुर में की गईं चुनावी सभा के फोटो प्रिंट हैं।

सोनिया गांधी भी आ चुकी हैं बुरहानपुर
कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी भी बुरहानपुर आ चुकी हैं। वे यहां पूर्व सांसद ठाकुर शिव कुमार सिंह की प्रतिमा का अनावरण करने 2000 में झिरी में स्थित शुगर फैक्ट्री आई थीं। ठाकुर परिवार से मिलकर रवाना हो गई थीं। वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ. तारिक ने बताया कि सालों पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और सोनिया गांधी खंडवा भी आए थे। वे कांग्रेस को मजबूत करने के लिए सभा संबोधित करने पहुंचे थे। उस समय सोनिया गांधी के पास पद नहीं था।

पूर्व कांग्रेस सांसद ठाकुर शिव कुमार सिंह की प्रतिमा का अनावरण करने कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी बुरहानपुर आई थीं। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और सोनिया गांधी खंडवा भी आए थे, तब बुरहानपुर खंडवा जिले का हिस्सा हुआ करता था।
पूर्व कांग्रेस सांसद ठाकुर शिव कुमार सिंह की प्रतिमा का अनावरण करने कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी बुरहानपुर आई थीं। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और सोनिया गांधी खंडवा भी आए थे, तब बुरहानपुर खंडवा जिले का हिस्सा हुआ करता था।

अब 23 नवंबर को बुरहानपुर आ रहे राहुल गांधी
गांधी परिवार की तीसरी पीढ़ी के रूप में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 23 नवंबर को बुरहानपुर आ रहे हैं। वे करोली, बोदरली ग्राम से मध्यप्रदेश की सीमा में प्रवेश करेंगे। उनके आगमन को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। ठाकुर परिवार ने शहर की सड़कों पर उनकी दादी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, उनकी मां सोनिया गांधी के साथ पुराने फोटो होर्डिंग पर लगाए हैं।

नेहरू भी आए थे नेपानगर
26 अप्रैल 1956 को तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू नेपानगर आए थे। हालांकि, उस समय बुरहानपुर खंडवा जिले में आता था। नेहरू ने नेपा मिल राष्ट्र को समर्पित की थी। मिल आज भी चालू है। हाल में इसका करोड़ों की लागत से दोबारा जीर्णोद्धार हुआ है। यहां अखबारी कागज बनता है।

भारत जोड़ो यात्रा के स्वागत प्रभारी बनाए गए ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा का परिवार राहुल को उनकी 3 पीढ़ियों से सजा एक एल्बम भेंट करेगा।
भारत जोड़ो यात्रा के स्वागत प्रभारी बनाए गए ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा का परिवार राहुल को उनकी 3 पीढ़ियों से सजा एक एल्बम भेंट करेगा।

ठाकुर परिवार राहुल गांधी को एल्बम भेंट करेगा
स्व. पूर्व सांसद ठाकुर शिव कुमार सिंह के परिवार में इस वक्त उनके छोटे भाई सुरेंद्र सिंह शेरा निर्दलीय विधायक हैं। भतीजे हर्षित ठाकुर और उनका पूरा ठाकुर परिवार राहुल गांधी जब बुरहानपुर पहुंचेंगे, तो उन्हें उनकी दादी, उनकी मां के साथ खिंचाई फोटो का एल्बम भेंट करेगा।

सुरेंद्र सिंह शेरा ने साझा किए अनुभव
ठाकुर परिवार के सदस्य बुरहानपुर के निर्दलीय विधायक और भारत जोड़ो यात्रा के स्वागत प्रभारी बनाए गए सुरेंद्र सिंह शेरा ने दैनिक भास्कर से इंदिरा गांधी के बुरहानपुर आगमन के अनुभव साझा किए। उन्होंने बताया- इंदिरा गांधी आई थीं, तो खुली जीप में प्रचार किया था। रात के 2 बजे बोदरली, मोमिनपुरा में आमसभा हुई थी। बिजली की समस्या थी। किसानों के बीच टॉर्च की रोशनी में सभा की थी। रात में 2 बजे उन्होंने बोदरली में भाषण दिया था। आज उनके पोते राहुल गांधी आ रहे हैं। उनका स्टे भी वहीं है, जहां 2000 में उनकी मां सोनिया गांधी आई थीं।

1980 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करने बुरहानपुर आईं थीं। उस समय उन्होंने चुनावी सभा को संबोधित किया था।
1980 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करने बुरहानपुर आईं थीं। उस समय उन्होंने चुनावी सभा को संबोधित किया था।

उन्होंने कहा-1990 में राजीव गांधी ने दूसरे नंबर के भाई महेंद्र सिंह को टिकट दिया। 1998 में सोनिया जी ने मंजूश्री को विधानसभा का टिकट दिया। 2000 में खुद सोनिया गांधी बुरहानपुर आईं। किसान सम्मेलन किया। शिवकुमार सिंह मेमोरियल कॉलेज का भूमिपूजन किया। ठाकुर शिवकुमार सिंह की मूर्ति का अनावरण भी किया था। कुछ साल पहले मैं खुद राहुल जी से मिला था।

1977 में पहले लोकसभा बाय इलेक्शन में इंदिरा गांधी ने हमारे भाई स्व. शिव कुमार सिंह को लोकसभा का टिकट दिया था। 1980 में इंदिरा जी मोमिनपुरा स्थित घर में 3 दिन रुकी थीं, तब शिव कुमार भैया ने कुशाभाऊ ठाकरे को हराया था।

भारत जोड़ो यात्रा के पोस्टर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तस्वीर भी लगाई गई है।
भारत जोड़ो यात्रा के पोस्टर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तस्वीर भी लगाई गई है।

भतीजे हर्षित ने कहा- इंदिरा गांधी आई थीं, तब तो मुझे होश भी नहीं था
बुरहानपुर विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा के भतीजे हर्षित के अनुसार परिवार की ओर से एल्बम भेंट किया जाएगा। इंदिरा जी भी हमारे घर रुक चुकी हैं। बड़ा भाई उनकी गोदी में खेल चुका है। यह सब पल थे, लेकिन तब मुझे तो होश नहीं था। बाद में फोटोग्राफ्स में यह सब देखा।

बुरहानपुर की गलियों में भारत जोड़ो यात्रा के ज्यादातर पोस्टर में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी नजर आ रही हैं।
बुरहानपुर की गलियों में भारत जोड़ो यात्रा के ज्यादातर पोस्टर में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी नजर आ रही हैं।

पूरा शहर होर्डिंग और पोस्टर से पटा
राहुल गांधी के आगमन को लेकर भव्य रूप से तैयारियां की जा रही हैं। बोदरली से लेकर शहर तक होर्डिंग और बैनर नजर आ रहे हैं। खास है कि इसमें ठाकुर परिवार के इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के परिवार से जुड़ाव के फोटो लगाए गए हैं।

बंजारा लोक नृत्य से होगा स्वागत
राहुल गांधी 23 नवंबर को सुबह 6.30 बजे महाराष्ट्र के जलगांव, जामोद होते हुए बोदरली गांव पहुंचेंगे। यहां बंजारा लोक नृत्य से स्वागत होगा। प्रस्तुति बंजारा लोक कलाकार रीना पवार देंगी। यहां अन्य संस्कृति से भी राहुल गांधी का स्वागत करने की योजना है, जिसमें भजन मंडलियां भी होंगी।

बुरहानपुर विधानसभा का पहला गांव है करोली, इससे सटा है बोदरली
बुरहानपुर विधानसभा की पहली पंचायत है करोली। इससे सटा गांव बोदरली है। राहुल गांधी की मप्र में पहली पदयात्रा 23 नवंबर को सुबह 6 बजे यहीं से शुरू होगी। इसे लेकर स्वागत प्रभारी बनाए गए सुरेंद्र सिंह ने कहा- जिस व्यक्ति से मिलने के लिए सालों अपाॅइंटमेंट लेते हैं, वे खुद चलकर आमजन के बीच जा रहे हैं।

लक्ष्य है लोगों को जोड़ना।बुरहानपुर दक्कन का दरवाजा कहा जाता है। इतिहास में लिखा है कि जो राजा ने देश में राज किया है, दक्कन के द्वार से आता था। राहुल गांधी भी दक्कन के दरवाजे से आकर 2024 में प्रधानमंत्री बनेंगे।

भारत जोड़ो यात्रा से जुड़ी इन खबराें से भी गुजर जाइए...

ससुर का पैर फ्रैक्चर हुआ, बहू को सिखाया बंजारा नृत्य:राहुल की यात्रा में तलवार पर डांस करेंगी रीना

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की मध्यप्रदेश में एंट्री 23 नवंबर को होगी। महाराष्ट्र में जलगांव के जामोद से होते हुए यात्रा बुरहानपुर के बोदरली गांव पहुंचेगी। बुरहानपुर में यात्रा का स्वागत बंजारा नृत्य से किया जाएगा। यहां की रहने वाली रीना नरेंद्र पवार सिर पर 51 मटकियां रखकर तलवार की धार पर खड़े होकर परफॉर्म करेंगी। दैनिक भास्कर की टीम रीना के घर पहुंची और इस मुकाम तक पहुंचने के पीछे की कहानी को समझा, पढ़िए पूरी खबर...

MP में तलवार पर डांस से होगा भारत जोड़ो यात्रा का वेलकम

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की मध्यप्रदेश में एंट्री 23 नवंबर को होगी। महाराष्ट्र में जलगांव के जामोद से होते हुए यात्रा बुरहानपुर के बोदरली गांव पहुंचेगी। यात्रा 13 दिन में प्रदेश के 6 जिले बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, इंदौर, उज्जैन और आगर-मालवा में घूमेगी। मप्र में यात्रा 399 किलोमीटर चलेगी। पढ़ें, पूरी खबर...

राहुल को उड़ाने की धमकी, इंदौर में संदिग्ध हिरासत में:इसी के नाम से आई थी चिट्‌ठी

इंदौर में एक दुकान पर डाक से चिट्‌ठी भेजकर राहुल गांधी को उड़ाने की धमकी देने से जुड़े एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया गया है। इसे कुछ देर पहले इंदौर के ही अन्नपूर्णा इलाके से उठाया गया है। उससे गोपनीय स्थान पर पूछताछ की जा रही है। पढ़ें पूरी खबर...

ग्राफिक्स: जितेंद्र ठाकुर