• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Burhanpur
  • The Accused Of Destroying The Idol Were Non political, The Message Was Spreading On Social Media Misleading

बुरहानपुर एसपी का ट्वीट:मूर्ति खंडित करने का आरोपी गैर राजनैतिक, Social media पर फैल रहा था मैसेज भ्रामक

बुरहानपुर (म.प्र.)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

2 मई को बुरहानपुर के मालीवाड़ा में एक युवक ने हनुमान मंदिर में मूर्ति खंडित कर सनसनी फैला दी थी। लेकिन पुलिस ने सतीश चौहान नामक आरोपी को महज 2 घंटे में गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में किसी ने सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल कर दिया कि पकड़ा गया आरोपी सतीश चौहान किसी भाजपा नेता का भतीजा है। इसे लेकर शुक्रवार को बुरहानपुर एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने ट्विट कर कहा- सोशल मीडिया पर मैसेज फैल रहा है जिसमें मालीवाड़ा हनुमान मंदिर में हुई घटना का आरोपी सतीश चौहान किसी पार्टी विशेष का सदस्य या मंत्री का रिश्तेदार बताया जा रहा है जो कि असत्य है।

अरुण यादव ने भी लगाए थे आरोप
गौरतलब है कि इस मामले में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने भी भोपाल में पत्रकार वार्ता आयोजित कर आरोप लगाए थे। लेकिन एसपी के ट्विट से अब सारी स्थिति साफ हो गई है।

भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया पलटवार

मामले में बुरहानपुर भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने कहा - कि कांग्रेस नेता झूठ बोलने और समाज में भ्रम फैलाने के कारण अपनी विश्वनीयता खो रहे हैं। यही कारण है कि जनता इन्हें नकार चुकी है। कांग्रेस नेता अरुण यादव भी कांग्रेस के इस झूठ बोलने वाली परम्परा को आगे बढ़ाने वाले नेता है इसलिए जनता उनको भी नकार चुकी है। बुरहानपुर में ईद और परशुराम जयंती से ठीक एक दिन पहले मालीवाडा स्थित मंदिर में भगवान हनुमान की मूर्ति खण्डित हुई।

घटना में झूठ बोलकर अरुण यादव संवेदनशील घटना का राजनीतिकरण कर बुरहानपुर का माहौल खराब करना चाहते है। इस घटना में प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए दोषी को पकड़ा है। अरुण यादव बुरहानपुर की संवेदनशील जनता से माफ़ी मांगे। पकड़े गए आरोपी के परिजन ने खुद स्वीकारा है कि आरोपी सतीश चौहान मानसिक रूप से ठीक नहीं है। पुलिस ने उसे महज 2 घंटे में गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया।