• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bageshwar Dham Sarkar Death Threat; Dhirendra Krishna Shastri Controversy | MP News

बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री को हत्या की धमकी...:भाई से फोन पर कहा- उसकी परिवार सहित तेरहवीं की तैयारी कर लो; रायपुर से धाम लौटे शास्त्री

खजुराहो/ छतरपुर10 दिन पहले

बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को परिवार सहित जान से मारने की धमकी मिली है। धमकी अमर सिंह नाम के व्यक्ति ने उनके चचेरे भाई को फोन पर दी। उसने कहा- धीरेंद्र शास्त्री की परिवार सहित तेरहवीं की तैयारी कर लो। बमीठा पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है।

SP ने कहा कि ऐसी आशंका है कि धमकी देने वाले ने किसी और नाम से फोन किया है। मामले की जांच के लिए 25 लोगों की SIT गठित की है। इसमें अनुविभागीय अधिकारी भी शामिल हैं। बागेश्वर धाम की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। धीरेंद्र शास्त्री की सिक्योरिटी को अलग से ब्रीफ किया जाएगा कि किस तरह से उसे सतर्कता बरतना है।

धीरेंद्र शास्त्री के चचेरे भाई ने कराई शिकायत

बमीठा पुलिस ने बताया कि धीरेंद्र शास्त्री के चचेरे भाई लोकेश गर्ग ने जान से मारने की धमकी की शिकायत दर्ज कराई है। लोकेश गर्ग को फोन किया गया था। लोकेश के पिता रामवतार गर्ग की ओर से दिए गए शिकायती आवेदन में बताया है कि अमर सिंह ने फोन पर कहा- अपने परिवार के लोगों की तेरहवीं की तैयारी कर लो। पुलिस अधिकारी माले की जांच में जुटे हुए हैं।

गढ़ा के रहने वाले रामवतार ने शिकायत में बताया- 22 जनवरी को रात 9.15 बजे उनके मोबाइल पर कॉल आया। कॉल रिसीव किया तो कोई अज्ञात व्यक्ति बोला कि धीरेंद्र से बात कराओ। रामवतार ने पूछा कौन धीरेंद्र? अज्ञात व्यक्ति ने कहा- बागेश्वर वाले धीरेंद्र शास्त्री से बात कराओ। इस पर रामवतान ने कहा- हमारी पहुंच उन तक नहीं है, जो आपकी बात करा दें। फिर फोन करने वाले ने धमकी दी। बोला- परिवार सहित धीरेंद्र शास्त्री की तेरहवीं की तैयारी कर लेना। इस पर रामवतान ने पूछा- क्यों कर लेना? आप कौन बोल रहे हैं? कॉलर ने अपना नाम अमर सिंह बताया। इसके बाद फोन काट दिया।

बता दें, धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री आज मंगलवार को फ्लाइट के जरिए रायपुर से खजुराहो पहुंचे। फिर यहां से गढ़ा ग्राम स्थित बागेश्वर धाम आए। बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री ने दिसंबर 2022 में कहा था कि उनकी जान लेने के लिए विदेशों में साजिश की जा रही है।

बागेश्वर धाम की व्यवस्था संभालते हैं लोकेश

लोकेश गर्ग पिता राम अवतार गर्ग धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के काफी करीब माने जाते हैं। लोकेश धीरेंद्र शास्त्री के पिता जी के बड़े भाई के सुपुत्र हैं। वे बागेश्वर धाम की व्यवस्था संभालते हैं। धाम पर ही इनके रेस्टोरेंट भी हैं, जो किराए से संचालित होता है।

अब पढ़िए FIR की कॉपी

महाराष्ट्र से शुरू हुआ था बड़ा विवाद

नागपुर में भी 13 जनवरी तक उनकी कथा का आयोजन होना था। वे 11 जनवरी को ही लौट आए। इसके बाद से ही उन्हें लेकर विवाद बढ़ता गया। नागपुर की अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति के श्याम मानव ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को सबके सामने अपनी शक्ति साबित करने की चुनौती दी थी। इस मामले पर पूरे देश में हंगामा मच गया है। अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति ने कहा कि जब बागेश्चर धाम सरकार को चमत्कार साबित करने के लिए चुनौती दी गई है तो कथा बीच में ही छोड़कर वह चले गए। 30 लाख रुपए का चैलेंज दिया गया था।

चुनौती पर कहा था- आ जाइए, आपकी पैंट गीली हो जाएगी

नागपुर के बाद छत्तीसगढ़ के रायपुर में कथा कर रहे धीरेंद्र शास्त्री ने श्याम मानव की चुनौती स्वीकार कर ली थी। उन्होंने कहा था- नागपुर वालो आओ, चुनौती स्वीकार है। सच बता दिया तो जिंदगीभर बागेश्वरधाम में पानी भरना पड़ेगा। बता दें, धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को लेकर इसके बाद से ही पूरे देश में चर्चा हो रही है।

उन्होंने रायपुर में कहा था- जिन्होंने हमें चुनौती दी है वो आज नहीं आ पाए तो कल आ जाइए, आपकी पैंट गीली हो जाएगी। अब तो हम तुम्हारे सिर पर नाचेंगे.. चिंता मत करो। हमें उनकी चुनौती स्वीकार है, लेकिन भरे दरबार में। अगर हमने उनकी चुनौती के अनुसार सब सच बता दिया तो जीवनभर उनको हमारा गुलाम बनना पड़ेगा। अगर हमने नहीं बताया तो हम अंधविश्वासी हो गए। यदि बताया तो जीवनभर आपको बागेश्वर धाम पर पानी भरना पड़ेगा और हम ये करवा भी लेंगे तुम बस दरबार में आओ।

धीरेंद्र शास्त्री ने कहा था- अभी तो उन पर और गंभीर आरोप हम पर लगाए जाएंगे। लुगाइयां (महिलाएं) भेजी जाएंगी। पैसा भेजा जाएगा, लेकिन हम भी सनातनी हैं, हम सबको पार कर लेंगे। सब संत और सनातनी यहां तक कि महाराष्ट्र के हिंदू भी हमारे साथ हैं।

​​​​​धीरेंद्र शास्त्री के समर्थन में आए मनोज मुंतशिर

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को मनोज मुंतशिर का भी समर्थन मिला है। मुंतशिर ने शास्त्री पर आरोप लगाने और उन पर सवाल उठाने वालों को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा है कि पहले तो वे ये बताएं कि उन्होंने धर्मांतरण का कब-कितना विरोध किया है। सतना नगर गौरव दिवस के कार्यक्रम में व्याख्यान देने आए गीतकार व संवाद लेखक मनोज मुंतशिर शुक्ला ने कहा कि बागेश्वर धाम के धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने धर्मांतरण रोकने का बड़ा काम किया है। शायद यही वजह है कि लोग उनके विरोध में खड़े हो गए।

मुंतशिर ने कहा, भारत का संविधान धर्मांतरण की इजाजत नहीं देता, फिर भी लोग प्रलोभन देकर धर्मांतरण करा रहे हैं। बागेश्वर धाम के महाराज ने धर्मांतरण को रोकने का बड़ा काम किया है। आज जो लोग उनके खिलाफ मुखर हैं, मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या वे कभी धर्मांतरण पर भी इतने मुखर हुए? चमत्कार की बात पर उन्होंने कहा, चमत्कार शब्द सब्जेक्टिव है, उसे लेकर सब का अपना-अपना नजरिया होता है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

भाजपा के पूर्व विधायक बोले- हनुमानजी की 8 शक्तियों में से एक शक्ति धीरेंद्र शास्त्री के पास

राजगढ़ के वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व विधायक रघुनन्दन शर्मा ने बागेश्वरधाम के धीरेंद्र शास्त्री का समर्थन करते हुए एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हनुमानजी को प्राप्त 8 शक्तियों में से एक शक्ति धीरेंद्र शास्त्री के पास है। इसी शक्ति से वह लोगों के मन में की बातों का पता लगाकर उसे कागज पर लिख देते हैं।

रघुनन्दन शर्मा ने राजगढ़ में मीडिया से बातचीत में हनुमान चालीसा की चौपाई का उदाहरण देते हुए कहा कि आपने हनुमान चालीसा की वो चौपाई तो जरूर पड़ी होगी 'अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता, अस बर दीन जानकी माता' मतलब हनुमानजी को माता जानकी ने 8 शक्तियां दी थीं। उन्हीं शक्तियों में से एक शक्ति अगर किसी के पास है, तो वो धीरेंद्र शास्त्री के पास है। और वह आध्यात्मिक शक्ति है, जिससे वे लोगों के मन की बातों को पढ़कर कागज पर लिख देते हैं। ये कोई आश्चर्य की बात नहीं है। इस तरह की शक्तियां हिंदू धर्म में बहुत लोगों के पास रही हैं। जिन लोगों को भारतवर्ष का इतिहास मालूम नहीं है, ना जिनकी धार्मिक पृष्ठभूमि है और ना उनका कोई आध्यात्मिक ज्ञान है। वह लोग जरूर इस तरह की बातें कर सकते हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

ये भी पढ़िए-

बागेश्वर 'सरकार' को श्याम मानव ने ठग कहा

बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री को ठग कहने वाले श्याम मानव की भी इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति से जुड़े श्याम मानव ने ही महाराष्ट्र में जादू टोना के खिलाफ 2013 में कानून बनवाया था। उन्होंने बागेश्वर सरकार के दिव्य दरबार में हो रहे कथित चमत्कारों को ठगी कहते हुए इसी कानून के तहत शिकायत की है, लेकिन 200 से ज्यादा बाबाओं का भांडाफोड़ कर चुके श्याम की शिकायत पर इस बार महाराष्ट्र सरकार ने कोई एक्शन नहीं लिया। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

धीरेंद्र शास्त्री बोले- नागपुर वालो आओ, चुनौती स्वीकार

नागपुर की अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति से मिली चुनौती के बाद शुक्रवार को रायपुर में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री (बागेश्वर धाम सरकार) का पहला दरबार लगा। यहां उन्होंने नागपुर की समिति के संस्थापक श्याम मानव पर फिर निशाना साधा। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बागेश्वर सरकार ने स्वीकारा नागपुर की समिति का चैलेंज

बागेश्वर धाम के कथावाचक पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने नागपुर की समिति की चुनौती को स्वीकार कर लिया है। उन्होंने समिति के 30 लाख रुपए के ऑफर को भी ठुकरा दिया है। उन्होंने कहा कि वे फ्री में ही उनके सभी सवालों के जवाब देंगे। बस इसके लिए समिति के सदस्यों को रायपुर में 20 और 21 जनवरी को होने वाले दरबार में पहुंचना होगा। उनके आने-जाने का खर्च भी धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने देने को कहा है। हालांकि समिति के प्रो. श्याम मानव ने रायपुर आने से इनकार कर दिया है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...