लड़कीवालों के डांस से ऊबे बाराती, रोका तो चली कुर्सियां:छतरपुर में मंडप बना अखाड़ा, पूरी बारात पिटी; दूल्हे को भी नहीं छोड़ा

छतरपुर8 महीने पहले

छतरपुर में शादी का मंडप अखाड़ा बन गया। घराती और बारातियों में कुर्सियां चल गईं। लड़कीवालों ने बारात को पीट दिया, यहां तक कि दूल्हे को भी नहीं छोड़ा। शादी कैंसल होने तक की नौबत आ गई, लेकिन बाद में समाज की पंचायत और बुजुर्गों के समझाने पर लड़कीवाले शादी के लिए राजी हुए।

मारपीट की वजह डांस से बोर होने को बताया जा रहा है। दरअसल, दुल्हन के घर की महिलाएं डांस कर रहीं थी। लड़केवाले इससे ऊब गए और नाच-गाने को बंद कर शादी की रस्में पूरी करने को कहा, इससे घराती इतना ज्यादा नाराज हो गए कि उनके हाथ जो लगा, उससे बारात की पिटाई कर दी। पुलिस के आने के बाद भी मारपीट नहीं रुकी।

खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल पर अपनी राय दे सकते हैं।

मामला 12 जून का है। शादी की रस्में दूसरे दिन 13 जून को संपन्न हुईं और इसके VIDEO अब सामने आए हैं। बताया जा रहा है कि बारात आने के बाद रात 2.30 बजे तक बाराती खाना खा चुके थे। नाच-गाना चल रहा था। सड़क किनारे ही मंडप गढ़ा हुआ था और दुल्हन के घर की लड़कियां और महिलाएं डांस कर रहीं थी। इधर, बाराती फेरों के इंतजार में थे। इसे लेकर पहले भी लड़कीवालों से कहा जा चुका था। लेकिन, जब नाच-गाना बंद नहीं हुआ तो नशे में चूर दूल्हे के भाई का सब्र जवाब दे गया। उसने मंडप के नीचे बज रहे म्यूजिक सिस्टम में लात दे मार दी। इतना होना था कि लड़कीवाले बारातियों पर टूट पड़े। सड़क किनारे गश्त कर रहे पुलिसवालों ने जब यह देखा तो कंट्रोल रूम को सूचना दी। पुलिस ने समझाया, लेकिन लोग नहीं माने। सख्ती की, तब जाकर विवाद शांत हो सका।

बुजुर्गों के आगे आने पर शादी की रस्में दूसरे दिन संपन्न हुईं।
बुजुर्गों के आगे आने पर शादी की रस्में दूसरे दिन संपन्न हुईं।

टीकमगढ़ से आई थी बारात

बारात टीकमगढ़ से छतरपुर में पन्ना नाके, कलेक्टर बंगला के पास आई थी। शादी बंजारा परिवार में थी। बताया जा रहा है कि हंगामे के बाद दुल्हन सोनम के परिवार ने शादी कराने से इनकार कर दिया।दूल्हे चंदू और उसके परिवार को बारात वापस ले जाने के लिए कहा। इस पर दूल्हे के घर से बुजुर्ग आगे आए। उन्होंने दुल्हन के घरवालों को मनाया। सोनम के मां-बाप नहीं हैं। भाई-भाभी और समाज के लोगों ने उसकी शादी कराई।