• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chhatarpur
  • In Atrat, Money Was Withdrawn After Sanctioning PM's House In The Name Of The Deceased, Six Houses In Naiguwan Not On The Spot

पीएम आवास में गड़बड़ी:अतरात में मृतक के नाम पर पीएम आवास स्वीकृत कर राशि निकाली, नैगुवां में छह आवास मौके पर ही नहीं

छतरपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना घोटाले की भेंट चढ़ती जा रही है। छतरपुर जनपद पंचायत की नैगुवां ग्राम पंचायत में 6 लाेगाें के नाम पर प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत करके राशि निकाल ली है। मौके पर आवास बने ही नहीं हैं। दूसरे व्यक्ति का बैंक खाता लगाकर घोटाला किया है।

इसी प्रकार से अतरार ग्राम पंचायत में दो साल पहले मृत हो चुके व्यक्ति के नाम पर प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कर राशि निकाल ली है। घोटाला को अंजाम देने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के पोर्टल पर लाेगाें के फर्जी बैंक खाता और आवास की फर्जी फोटो अपलोड की हैं।

ऐसी गड़बड़ी जिला परियोजना अधिकारी की मिलीभगत के संभव नहीं है। पीएम आवास योजना के पाेर्टल पर लाेगाें की आईडी पर अपलोड की फोटो पर एक नजर डालते ही फर्जीवाड़ा समझ में आने लगता है। जिस आवास की दूसरी किस्त जारी करते समय अपलोड की गई फोटो में एक दरवाजा बना नजर आता है।

उसी मकान की तीसरी किस्त के समय अपलोड की गई फोटो में दो दरवाजे दिखाई दे रहे हैं। आवास का पूरा डिजाइन बदल गया है। ऐसी कई विसंगति मौके का मुआयना किए बगैर पोर्टल पर ही नजर आ रही हैं। इससे साबित होता है कि पूरा घोटाला मैदानी अमले और जिला परियोजना अधिकारी की मिलीभगत के कारण हुआ है।

खिल्कू पाल ने कहा- मेरे नाम से आवास स्वीकृत करा लिया, नतीजा कच्चे घर में रहने को मजबूर

नैगुवां ग्राम पंचायत के हितग्राही खिल्कू पाल के नाम पर प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत है। पोर्टल पर उनकी आईडी एमपी5599831 से तीन किस्तों में राशि निकल गई हैं। पूर्णता प्रमाण-पत्र जारी है, लेकिन खिल्कू पिता चुन्टू पाल अपने परिवार के साथ कच्चे घर में रहने को मजबूर हैं। मौके पर कोई निर्माण ही नहीं हुआ है। उनके नाम पर पीएम आवास स्वीकृत होने जानकारी लगने के बाद वे जनपद और जिला पंचायत पहुंचकर शिकायत कर चुके हैं। पर कोई अधिकारी उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है।

फर्जी बैंक खाता दर्शाकर जारी करा ली राशि

छतरपुर जनपद पंचायत की अतरार ग्राम पंचायत के रहने वाले दीना कुशवाहा पिता चिरौंजी लाल कुशवाहा का वर्ष 2021 में निधन हो चुका है, लेकिन मई 2022 में मृत दीना कुशवाहा के नाम पर प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किया है। दीना के नाम पर स्वीकृत आवास में एक फर्जी बैंक खाता नंबर लगाया है। वर्तमान सरपंच संतोष तिवारी ने बताया कि मृतक दीना की पत्नी मथुरा बाई को भी जानकारी नहीं है कि उसके पति के नाम पर आवास स्वीकृत करके राशि निकाल ली है।

मामले की शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही

नैगुवां गांव के ही मोती लाल पिता मदना, भगतदास पिता बलराम पटेल, शिवनारायण पिता बिहारी लाल पांडेय, कल्लू पिता मन्नू साहू और रामसहाय पिता परमलाल पटेल के नाम पर भी प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत करके तीनों किस्तों में राशि निकाल ली है। पर न तो इन लोगों को राशि न मिली है और न ही मौके पर कोई निर्माण हुआ है। पूरा घोटाला फर्जी बैंक अकाउंट और फर्जी फोटो अपलोड करके घोटाला किया है। यह हितग्राही जिला पंचायत में सीईओ को शिकायत कर चुके हैं पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

सीधी बात

- तपस्या सिंह, जिला सीईओ

नैगुवां पंचायत में छह प्रधानमंत्री आवास कैसे गायब हो गए हैं?

हमारे पास शिकायत आई है, जांच करा रहे हैं।

लोग परेशान हैं कार्रवाई कब तक होगी?

दो-तीन दिन में कार्रवाई हो जाएगी।

अतरार ग्राम पंचायत में मृतक के नाम पर आवास कैसे स्वीकृत हो गया है?

इस मामले की शिकायत नहीं आई, हम जांच कराएंगे।

खबरें और भी हैं...