• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chhindwara
  • Doctor Not Found In Hospital, Troubled Relatives Created Ruckus Outside Hospital, Treatment Started After 2 Hours, Girl's Condition Out Of Danger

4 साल की मासूम को लगा करंट:अस्पताल में नहीं मिला डाक्टर, परेशान परिजनों ने अस्पताल के बाहर किया हंगामा, 2 घंटे बाद शुरू हो पाया इलाज, बच्ची की हालत खतरे से बाहर

छिंदवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पांढुर्णा के सांई टेकड़ी में रहने वाली 4 साल की मासूम बच्ची को आज अचानक अपने घर में बिजली के तार से करंट लग गया, जिसे उसके परिजनों ने गंभीर हालत में उपचार के लिए पांढुर्णा अस्पताल लेकर आए, लेकिन यहां डाक्टर न होने के कारण उन्हे काफी देर तक परेशान होना पड़ा। बाद में परिजनों ने बच्ची की हालत बिगड़ती देख अस्पताल के बाहर हंगामा किया तब कहीं जाकर डयुटी डाक्टर मौके पर पहुंचा और इलाज प्रारंभ हो पाया।
घर में विधुत तार से झुलस गई थी बालिका
पांढुर्णा नगर के सांई टेकडी स्थित शंकर नगर में सृष्टि पिता केशव बालपांडे आज अपने घर में खेल रही थी तभी वह घर में बिजली बोर्ड से लगे तार की चपेट में आ गई और झुलस गई, जिसके बाद वह बेहोश हो गई थी। परिजनों ने तत्काल उसे पांढुर्णा अस्पताल लेकर आए लेकिन यहां डयुटी डाक्टर अनिल शर्मा केबिन में नहीं थे, जिसके बाद लगभग २ घंटे तक परिजन अस्पताल के बाहर परेशान होते रहे, और बच्ची को गोद में लेकर घूमते रहे, तभी वार्ड के कुछ लोग यहां पहुंचे और उन्होंने अस्पताल के बाहर हंगामा शुरू कर दिया जिसके बाद आनन फानन में डाक्टर मौके पर पहुंचे तब कहीं जाकर बच्ची का उपचार शुरू हो पाया।
घर में आराम कर रहे थे डाक्टर
बालिका के परिजनों ने बताया कि दोपहर को उनकी बच्ची को करंट लगा था, और वे तकरीबन दो बजे अस्पताल पहुंच गए थे, तभी उन्हे पता चला कि डयुटी डाक्टर केबिन में नहीं है, वे आराम कर रहे है जिसके बाद परिजन और उनके रिश्तेदार भडक गए, तथा उन्होंने जोरदार हंगामा कर दिया। बताया जा रहा है कि अक्सर यहां डाक्टर दोपहर के बाद डाक्टर अस्पताल से गायब हो जाते है।

खबरें और भी हैं...