• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chhindwara
  • In The 5 year old Case, The Court Sentenced The Accused To 3 Years' Imprisonment, A Fine Of One And A Half Lakhs

पेंच पार्क में मछली का शिकार करना पड़ा महंगा!:5 साल पुराने मामले में न्यायालय ने आरोपियों को सुनाई 3 साल की सजा, डेढ़ लाख का ठोका जुर्माना

छिंदवाड़ा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पेंच पार्क, राष्ट्रीय उद्यान के अतिरिक्त वन्यपाणी बाघ के संरक्षण और संर्वधन के दृष्टिकोण से इस क्षेत्र को टाइगर रिजर्व घोषित किया गया है, ऐसे संवेदनशील क्षेत्र में बिना डर के घुसकर शिकार करने वाले तीन शिकारियों को न्यायालय ने सजा के साथ भारी अर्थदंड से दंडित किया है। एक सप्ताह के अंदर ऐसे दूसरे मामले में बड़ी सजा का ऐलान किया गया है, जानकारी में अभियोजन अधिकारी अभयदीप सिंह ठाकुर ने बताया कि गत 12 अक्टूबर 2017 को पेंचराष्ट्रीय उद्यान के गुमतरा परिक्षेत्र का वन अमला अवैध मछली शिकार नियंत्रण के लिए दो दल बनाकर गश्त कर रहा था।

तभी रात ढाई बजे गश्ती दल को प्रतिबंधित डूंडावली बोदलपठार डूब क्षेत्र में जाल की सहायता से मछली का शिकार करते हुए बिछुआ के पुलपुलडोह निवासी भौजीलाल पिता झलकू धुर्वे, महिपाल पिता कल्लू उईके और बिसनलाल पिता सुखलाल बनवारी मिले थे, जिनके पास से मछलियां, जाल और रबर ट्यूब बरामद किया गया था। आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर प्रकरण को सुनवाई के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शिवमोहर सिंह की न्यायालय में प्रस्तुत किया था।

शनिवार को तमाम साक्ष्यों, गवाहों के बयान सुनने के बाद दोष सिद्ध पाए जाने पर न्यायालय ने आरोपी भौजीलाल धुर्वे, महिपाल उईके और बिसनलाल बनवारी को तीन-तीन वर्ष कारावास और डेढ़-डेढ़ लाख के अर्थदंड की सजा से दंडित किया है।

खबरें और भी हैं...