• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chhindwara
  • In The No Helmet, No Riding Campaign, More Than Half The Employees Were Caught Riding Bikes Without Helmets, DSP Is Making People Aware Every Day

नो हेलमेट, नो राइडिंग!:20 पुलिसकर्मी सहित, 2 हजार सरकारी कर्मचारी बिना हेलमेट पकड़ाए, DSP ने कहा- हेलमेट है जरूरी, देखे VIDEO

छिंदवाड़ा2 महीने पहले

हेलमेट चेकिंग में 20 पुलिस वालों के बने चालान!नो हेलमेट, नो राइडिंग अभियान में आधे से ज्यादा कर्मचारी बिना हेलमेट बाईक चलाते पकड़े गए, डीएसपी रोज लोगों को कर रहे जागरूकछिंदवाड़ा पुलिस ने सडक़ दुर्घटना को रोकने के लिए नो हेलमेट, नो राइडिंग अभियान छेड़ रखा है जिसको लेकर ट्रेफिक पुलिस अलग अलग तिराहे चौराहे में दोपहिया वाहन चालकों की हेलमेट चेकिंग अभियान कर रही है। पिछले 14 दिनो में हेलमेट चेकिंग अभियान में 4000से अधिक लोगो के हेलमेट नहीं पहनने पर चालान काटे गए।

खास बात इसमें यह रही कि इस चेकिंग अभियान का शिकार होने वाले अधिकांश शासकीय कर्मचारी निकले। 2000 से अधिक सरकारी विभाग में पदस्थ अधिकारी कर्मचारी भी हेलमेट का नियम तोड़ते मिले, जिसमें जिम्मेदार मानी जाने वाले पुलिस विभाग के 20 अधिकारी और कर्मचारी भी इस चेकिंग के दौरान बिना हेलमेट पकड़ाए जिसमें उन्हें चालान भरना पड़ा।

डीएसपी सुदेश सिंग ने कहा आंकड़ों सडक़ दुर्घटनाओं में मृतकों की संख्या डेढ़ लाख से अधिक है। इनमे से 50 प्रतिशत से अधिक संख्या हेलमेट नहीं पहनने वाले दोपहिया वाहन चालक मौत का शिकार होते हैं। सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु के आंकड़ों को कम करने के लिए विभाग लगातार प्रयास कर रहा है।

सितंबर माह में डब्ल्यू पी 7436/21 जिसमें दोपहिया वाहन चलाते समय सेक्शन 128और सेक्शन 129 दोनो के पालन के लिए पुलिस अभियान चला रही है। सडक़ दुर्घटनाओं में मृत्यु के आंकड़ों को कम करने के लिए हमने जिले में हेलमेट की अनिवार्यता की है। जिसमे दोपहिया वाहन में दो से अधिक व्यक्ति नही बैठे।

6 अक्तूबर से जिले में दो चरणों में शहर के अलग अलग तिराहे चौराहे, चौकी,थाना स्तर पर हेलमेट चेकिंग अभियान जारी हैं। नो हेलमेट नो राइडिंग अभियान के तहत दोपहिया वाहन चेकिंग 4000 से अधिक दोपहिया वाहन चालकों के चालान काटे गए है इनमें आधे से अधिक 2000 से ज्यादा शासकीय अधिकारी कर्मचारी बिना हेलमेट पकड़ाए , इनमे जिम्मेदार पुलिस विभाग के 20 अधिकारी कर्मचारी हेलमेट के नियमों का तोड़ते पकड़ाए।

हेलमेट की सख्ती से पहले पुलिस ने हेलमेट जागरूकता अभियान चलाया था

यातायात विभाग ने हेलमेट चेकिंग अभियान से पहले पूरे जिले में हेलमेट जागरूकता अभियान चलाया था। लोगो को पंपलेट और नाटक नुक्कड़ के माध्यम से बताया था कि सडक़ दुर्घटना में मौत की बड़ी वजह हेलमेट नहीं पहनना ही है।

क्योंकि दो पहिया में वाहन सवार के पास दुर्घटना से बचने का कोई भी सुरक्षा उपकरण नहीं होता।इस जागरूकता अभियान के बाद जिले में दो सप्ताह में 4000 हजार से अधिक लोगो के चालान काटे जा चुके है। हेलमेट की अनिवार्यता के लिए जिले में लगातार चलता रहेगा।

हेलमेट की जागरूकता के लिए निकाली गई वाहन रैली

गुरुवार की शाम को पुलिस और स्वयं सेवी संगठन ने संयुक्त रूप से वाहन रैली निकालकर लोगो को हेलमेट पहनने का संदेश दिया।हेलमेट जागरूकता वाहन रैली यातायात थाना से शुरू हुई । शहर के मुख्य मार्गो से निकली रैली में शामिल हेलमेट पहने सभी दो पहिया सवार लोगो ने हेलमेट पहनने का संदेश दिया।

खबरें और भी हैं...