विद्युत मंडल द्वारा नहीं की जा रही कार्रवाई:बॉक्स से बिजली की चोरी, अधिकारियों को सब पता फिर भी नहीं लगा रहे अंकुश

दमोह22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में बिजली चोरी पर रोक नहीं लगाई जा रही है। लोग बिजली के पोल में डोरी डालकर डायरेक्ट बिजली जला रहे हैं। अधिकारियाें को जानकारी होने के बाद भी बिजली चोरी पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है। शहर के पलंदी चौराहा से धगट चौराहा के बीच गलियों में चोरी की बिजली जलाई जा रही है। बड़ापुल डॉक्टर वर्मा की गली से कछियाना मोहल्ला मार्ग, मल्लपुरा सहित कुरैश मंडी, बड़ापुरा में डायरेक्ट चोरी की बिजली जलाई जा रही है। इन क्षेत्रों में बिजली कंपनी की टीम नहीं पहुंचती है जिससे सुबह से रात तक घराें के बाहर लगे बल्व जलते रहते हैं।

नलों में सप्लाई चालू होते ही मशीनें लगाकर बिजली चोरी की जाती है। यहां तक अधिकांश घरों में हीटर भी जलाए जा रहे हैं। जिससे क्षेत्र की डीपी ट्रांसफाॅर्मर पर अतिरिक्त लोड पड़ने से आए दिन फाल्ट बनते हैं। इसके अलावा जिन क्षेत्रों में बिजली चोरी हो रही है वहां के ईमानदार उपभोक्ताओं पर बिजली बिल का अतिरिक्त भार डाला जा रहा है। उपभोक्ता महेंद्र आठ्या ने बताया कि मेरे घर में जितनी बिजली की खपत नहीं होती है उससे ज्यादा बिजली का बिल थमाया जाता है, कभी दो हजार तो कभी 2500 रुपए बिल आ रहा है जबकि जहां चोरी की बिजली जलाई जा रही है वहां जांच भी नहीं हो रही है। लोग बिल भी जमा नहीं कर रहे हैं और 24 घंटे बिजली जला रहे हैं।

नीलकमल कटारे ने बताया कि ओवरलोड के कारण आए दिन बिजली तारों ट्रांसफाॅर्मर में जलने की समस्या हो रही है। घंटों बिजली सप्लाई बंद हो रही है। लेकिन बिजली चोरी पर रोक नहीं लगाई जा रही है। भास्कर ने शहर के मल्लपुरा, कुरैश मंडी, पलंदी चौराहा के पास हरिजन बस्ती का जायजा लिया तो यहां पोल में लगे बाॅक्स से डायरेक्ट तार फंसे नजर आए। जबकि इन क्षेत्रों में केबलिंग भी नहीं हुई है। जिससे बिजली चोरी करने में आसानी हो रही है।

टीम भेजकर कार्रवाई करवाते हैं
बिजली चोरी पकड़ने टीम घूमती है, यदि कहीं चोरी की बिजली जलाई जा रही है तो वहां टीम भेजकर कार्रवाई कराई जाएगी। -ओपी सोनी, ईई, विद्युत मंडल

खबरें और भी हैं...